जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर मैं भारत हूं पर केंद्रित 75 काव्य रचनाओं का संकलन अंतर्जाल पर प्रकाशित जाना जाना है। इसके लिए कवियों और साहित्यकारों से उनकी दो-दो रचनाएं आमंत्रित की गई हैं। इंटरनेट मीडिया के माध्यम से सभी अपनी रचनाएं भेज रहे हैं। यह राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। जिसमें हर कोई अपने आप को भारत समझे और अपनी रचनाओं को तैयार कर भेजे। इसे लेकर सभी में खास उत्साह देखने को मिल रहा है।

40 कवियों ने भेजी रचनाएं : अब तक 40 कवियों ने अपनी रचनाएं भेज दी हैं। जिस तरह से रचनाएं आ रही हैं। उसके अनुसार पुस्तक को दो भागों में प्रकाशित किए जाने की उम्मीद की जा रही है। यह राष्ट्रीय स्तर की पुस्तक होगी। जिसके लिए छह राज्यों से रचनाएं आ चुकी हैं। इसमें इंटरनेट मीडिया अहम भूमिका निभा रहा है। सभी इंटरनेट मीडिया के माध्यम से ही अपनी रचनाएं भेज रहे हैं। आचार्य संजीव वर्मा सलिल ने बताया कि ये आयोजन आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर किया जा रहा है। इस पुस्तक को 15 अगस्त तक तैयार कर लिया जाएगा। इसमें राष्ट्रीय एकता की भावना है। सभी अपनी-अपनी रचनाओं में मैं भारत हूं विषय को शामिल कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इसी तरह आजादी में शहर की भूमिका का इतिहास भी काफी धुंधला सा है। जिसके लिए प्रयास जारी है। इसका भी संकलन कर पुस्तक लिखी जा रही है। जिसमें स्वतंत्रता सेनानियों का अलग-अलग वर्णन होगा। क्रांतिकारियों का वर्णन, आजाद हिंद फौज में शामिल सेनानियों की गाथा और सत्याग्रह में शामिल हुए लोगों का विस्तार से वर्णन होगा। इसे फरवरी 2022 में पूरा किए जाने का लक्ष्य है। इसके लिए लाइब्रेरी और जानकारों के साथ लगातार संपर्क में बने हुए हैं।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags