जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर मध्य प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा समिति की ओर से निरंतर प्रयास जारी हैं। इसके तहत अनवरत अभियान चलाया जा रहा है। एक के बाद एक शिविर लगाए जा रहे हैं। कैदियों की समस्याओं को लेखबद्ध करके उनके निदान की दिशा में जेल प्रशासन को दिशा-निर्देश जारी किए जाते हैं।

सालभर लगाए जाएंगे शिविर : सचिव मनीष सिंह ठाकुर ने बताया कि 2022 में पूरे साल जेल में शिविर लगाए जाएंगे। इससे पूर्व दो माह में 2021 के लिए निर्धारित शिविरों की संख्या पूर्ण कर ली जाएगी। इसे लेकर निर्देश जारी कर दिए गए हैं। स्वयंसेवी संगठनों को भी जेल में काउंसिलिंग के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। बंदियों के मानवाधिकारों का हनन रोकने पूर्ण प्रयास जारी है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर के अध्यक्ष प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश नवीन कुमार सक्सेना के मार्गदर्शन में केंद्रीय जेल, जबलपुर में आजादी के अमृत महोत्सव अंतर्गत बंदियों के हितार्थ विधिक जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव मनीष सिंह ठाकुर द्वारा बंदियों के पुनर्वास पर चर्चा की गई। न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी ज्येाति सिंह टेकाम द्वारा गिरफ्तार व्यक्तियों के विधिक व मौलिक अधिकारों के संबंध में मूलभूत जानकारी दी गई। जिला विधिक सहायता अधिकारी मोहम्मद जीलानी द्वारा बंदियों को विधिक सहायता की प्रक्रिया के बारे में समझाया गया। शिविर के अंत में सचिव ठाकुर द्वारा बंदियों की समस्याएं भी सुनी गईं। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय जेल के जेलर आरपी मिश्रा, सहायक जेल अधीक्षक राकेश मोहन, विधि अधिकारी व पैरालीगल वालेंटियर्स आदि ने काउंसिलिंग की।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local