जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर को स्‍मार्ट बनाने के लिए कराए जा रहे निर्माण व विकास कार्यों की धीमी रफ्तार पर निगमायुक्‍त व स्‍मार्ट सिटी के कार्यपालिक निदेशक जमकर बरसे। मंगलवार को समीक्षा बैठक में उन्‍होंने तल्‍ख लहजे में कहा कि यदि तय समय सीमा में स्‍मार्ट सिटी की निर्माण योजनाओं को पूरा नहीं किया गया तो संबंधित ठेकेदारों, संस्‍थाओं को टर्मिनेट कर दिया जाएगा।

स्‍मार्ट सिटी कार्यालय में मंगलवार को आयोजित समीक्षा बैठक में निगमायुक्‍त व स्‍मार्ट सिटी के कार्यपालिक निदेशक संदीप जीआर ने शहर में स्‍मार्ट सिटी प्रोजेक्‍ट के तहत कराए जा रहे निर्माण व विकाय कार्यों की सिलसिले वार समीक्षा की। उन्‍होंने कहा कि संस्कारधानी जबलपुर को देश के अन्य विकसित महानगरों की श्रेणी में लाने के लिए स्मार्ट सिटी द्वारा निर्माणाधीन सभी परियोजनाओं का समय पर पूर्ण होना अति आवश्यक है। इस बिंदु को ध्यान में रखते हुए सभी अधिकारी ठेकेदार और कंसलटेंट स्मार्ट सिटी के द्वारा स्वीकृत परियोजनाओं को तय समय सीमा में पूरी गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराने की दिशा में अभी से ही जुट कर कार्य करें। तभी जबलपुर के विकास की गति तेज होगी और शहर की गिनती देश के बड़े महानगरों में होने लगेगी।

अधिकारियों सहित कंसलटेंट को दी हिदायत: बैठक में निगमायुक्‍त ने अधिकारियों, ठेकेदारों और कंसलटेंट को दो टूक कहा है कि वे स्वीकृत और निर्माणाधीन परियोजनाओं को पूर्ण कराने में जरा भी कोताही न बरतें। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में हिदायत दी कि समय सीमा में कार्य पूर्ण नहीं करने वाले सभी ठेकेदारों को टर्मिनेट किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि स्वीकृत और निर्माणाधीन परियोजनाओं के कार्यों की प्रगति में किसी भी प्रकार की बाधा उत्पन्न होती है तो इसकी जानकारी तत्काल उन्हें दी जाए ताकि उच्च अधिकारियों एवं शासन स्तर पर चर्चा कर सभी समस्याओं का समाधान कराया जा सके। बैठक में स्‍मार्ट सिटी की मुख्य कार्यपालन अधिकारी निधि सिंह राजपूत, अधीक्षण यंत्री अजय शर्मा, कार्यपालन यंत्री कमलेश श्रीवास्तव,शिवेंद्र सिंह, सहायक यंत्री बाहुबली जैन, काविश मिश्रा आदि उपस्थित थे।

ये काम अब भी अधूरे: विदित हो कि शहर में स्‍मार्ट सिटी प्रोजेक्‍ट के तहत घंटाघर स्थित कंनवेशन सेंटर, भटौली ओपन एयर थियेटर, पंडित रविशंकर शुक्ल स्टेडियम, इनक्यूबेशन सेंटर, स्मार्ट रोड फेस एक, दो और तीन के अलावा राइट टाउन क्षेत्र में 24x7 पेयजल योजना के तहत कार्य कराए जा रहे है। जो अब तक अधूरे है।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags