जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना का पलटवार हो रहा है। देश के कई राज्यों में तेजी से मरीज बढ़ रहे हैं। इसको देखते हुए प्रदेश में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है लेकिन जबलपुर रेलवे स्टेशन पर कोरोना का कोई भय नजर नहीं आ रहा है। यहां आने-जाने वाले यात्री और स्वजन मास्क और सैनिटाइजर से दूर हैं। बिना रोक-टोक प्लेटफार्म प्रवेश करने और कोरोना की अनदेखी से पुन: संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। वहीं प्लेटफार्म 6 के प्रवेश गेट पर लगी बैग स्कैनिंग मशीन धूल खा रही है। काफी समय से बंद होने के बाद भी रेलवे ने कोई सुधार नहीं किया।

यात्रियों की नहीं हो रही जांच : कोरोनाकाल के बाद से धीरे-धीरे कर जबलपुर स्टेशन से 46 ट्रेनों का आवागमन शुरू हो गया है। ये ट्रेनें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, उत्तरप्रदेश सहित अन्य प्रदेशों से आ रही हैं। महाराष्ट्र सहित अन्य प्रदेशों में कोरोना संक्रमण तेजी से लौट रहा है बावजूद इसके यात्रियों की जांच-पड़ताल जबलपुर स्टेशन पर नहीं हो रही जबकि वहां कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। जबलपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म गेट पर न सुरक्षा के कोई उपाय हैं न ही यात्रियों की चेकिंग करने के लिए तैनात टीटीई नजर आते हैं। जिसके चलते यात्री बिना रोक-टोक आ-जा रहे हैं। यात्रियों का लगेज भी बिना स्कैनिंग के आ-जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि कोरोनाकाल में जबलपुर रेलवे स्टेशन में जिस कड़ाई से गाइडलाइन का पालन किया जा रहा था वह पूरी तरह नदारद है। दूसरे राज्यों में बढ़ रहे कोरोना के मरीजों से भी रेल प्रशासन सबक नहीं ले रहा है।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags