जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गांव—गांव में कोरोना संक्रमण की दस्तक के साथ ही बिजली कर्मियों के लिए संघ ने सतर्क रहने की सलाह दी है। मप्र तकनीकी बिजली कर्मचारी संघ के हरेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि लाइन स्टॉफ कम है ऐसे में ग्रामीण इलाकों में उन्हें कार्य करने जगह—जगह जाना होता है। इस स्थिति में उन्हें बचाव के लिए कोविड—19 की गाइडलाइन और सुरक्षा के​ लिए मास्क का उपयोग करना चाहिए। उन्होंने बताया कि कई बिजली कर्मी कोरोना की चपेट में आकर अपनी जान गवां चुके हैं। हर किसी को अपनी जान बचाने की पड़ी है।

फिलहाल ग्रामीण इलाकों में मेंटेनेंस का काम किया जा रहा है। ऐसे में लाइनों को बंद और चालू करना पड़ता है।

संघ ने फिलहाल कोरोना संक्रमण को देखते हुए लाइन लॉस और मेंटेनेंस का काम फिलहाल नहीं करवाने की मांग की हैं उनके अनुसार कर्मचारी इस कार्य में सबसे ज्यादा संक्रमित होने की संभावना होगी। संघ के हरेंद्र श्रीवास्तव, बीएस राजपूत, प्रकाश पटेल, राजेश यादव, राजेश झारिया, मुन्नू लाल, उमेश सेन, बृजेंद्र सिंह, कौशल बिहारीलाल केवट, संजय वर्मा, शिव दत्त तिवारी आदि के द्वारा ग्रामीण के अधिकारियों से कहना है कि कोरोना महामारी के प्रभावी होने तक आउटसोर्स,संविदा और नियमित कर्मियों को सुरक्षित रखने का प्रयास होना चाहिए। कंपनी प्रबंधन फिलहाल लाइनों का मेंटेनेंस का काम कुछ समय के लिए टाल दे।

ग्रामीण इलाकों में बिजली सप्लाई ठप्प: ग्रामीण इलाकों में बिजली की सप्लाई बुरी तरह से प्रभावित है। ट्रांसफार्मर खराब है जिन्हें सुधारा नहीं जा रहा है। वहीं लोग बिजली सप्लाई बेहतर नहीं होने के कारण गर्मी में परेशान हो रहे हैं। पाटन संभाग के बेलखेड़ा के गांव बसेड़ी में कई माह से ट्रांसफार्मर में अर्थिंग की सप्लाई बंद है वजह से ग्रामीणों को लोड भरपूर नहीं मिल रहा है। कूलर—पंखे नहीं चल रहे हैं।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags