जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमित मरीज की उपचार के दौरान मौत होने के बाद अस्पताल प्रबंधन द्वारा मृत्यु प्रमाण पत्र और अन्य दस्तावेज नहीं दिये जा रहे थे। इसको लेकर मृतक की पत्नी ने जैसे ही कलेक्टर से शिकायत की उन्होंने संबंधित अधिकारियों को भेजकर न सिर्फ मृत्यु प्रमाण पत्र और अन्य दस्तावेज दिलवाये बल्कि निर्धारित दरों के आधार पर संशोधित बिल भी तैयार करवाया।

राइट टाउन स्थित अनंत अस्पताल में संजय झा का कोरोना का उपचार चल रहा था। इलाज के दौरान 17 अप्रैल को उनकी मृत्यु हो गई। अस्पताल को दो लाख 93 हजार रुपये का बिल चुका दिया गया था। अस्पताल प्रबंधन द्वारा करीब इतनी ही राशि की और मांग की जा रही थी एवं इस राशि को चुकाने के लिये दबाव बनाया जा रहा है। इसके अलावा इलाज से संबंधित सभी कागजात जब्‍त करके रख लिये गये हैं। इसको लेकर संजय की पत्नी ने कलेक्टर से शिकायत करते हुए बताया कि अस्पताल द्वारा मृत्यु प्रमाण पत्र, उपचार से संबंधित बिल और डिस्चार्ज कार्ड नहीं दिये जाने के कारण बीमा कपंनी से क्लेम भी नहीं मिल पा रहा है।

कलेक्टर ने मृतक की पत्नी की इस शिकायत पर संज्ञान लेकर संयुक्त कलेक्टर शाहिद खान और डॉ. संजय छत्तानी को तत्काल जांच करने के और मृतक के परिजनों को दस्तावेज उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कलेक्टर के निर्देश पर दोनों अधिकारियों ने अनंत अस्पताल पहुंचकर शिकायत की जांच की और अस्पताल प्रबंधन को निर्धारित दरों के अनुसार संशोधित बिल तैयार करने के कहा। जांच अधिकारियों द्वारा अस्पताल प्रबंधन से मृत्यु प्रमाण पत्र सहित सभी जरूरी दस्तावेज मृतक के परिजनों को तत्काल उपलब्ध भी कराये गये।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags