जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षा को ओपन बुक अथवा आनलाइन प्रणाली से करवाये जाने की मांग की गई। एनएसयूआइ ने इस संबंध में संयुक्त लोक शिक्षण विभाग के बाहर प्रदर्शन किया। इस दौरान स्कूल शिक्षा मंत्री के नाम ज्ञापन दिया।

स्कूली शिक्षा विभाग अब भी मौन : कार्यकर्ताओं ने बताया कि मध्यप्रदेश सहित पूरे देश में कोरोना का आतंक पुन: प्रारंभ हो चुका है, मध्यप्रदेश में प्रतिदिन हजारों की संख्या में कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। अभिभावकों की चिंता एवं छात्रों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन ने प्रदेश के सभी महाविद्यालयों में ओपन बुक प्रणाली के माध्यम से परीक्षा आयोजित करवाए जाने के निर्देश दिए हैं। वहीं स्कूली शिक्षा विभाग ने भी पूर्व में नवमीं एवं ग्यारहवीं की परीक्षाएं ओपन बुक एवं 10वीं एवं 12वीं की प्री बोर्ड परीक्षाएं ओपन बुक अथवा आनलाइन दोनों प्रणाली से आयोजित किए जाने के निर्देश दिए हैं, परंतु मुख्य परीक्षा के लिए स्कूली शिक्षा विभाग अब भी मौन बना हुआ है जबकि मुख्य परीक्षा में भी लाखों छात्र शामिल होंगे। कार्यक्रम में मुख्य रूप से रिजवान अली कोटी, कपिल भोजक, शाहबाज अली, शाहनवाज अंसारी, अपूर्व केसरवानी, एजाज अंसारी आदि मौजूद रहे।

संक्रमण बढ़ेगा, इसलिए मांग : आफलाइन परीक्षा का विरोध करने पहुंचे विद्यार्थियों ने कहा कि परीक्षा होने से कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा होगा। स्कूलों में कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन नहीं होता है ऐसे में विद्यार्थियों की जान जोखिम में आएगी। उन्होंने घर बैठे परीक्षा करवाने की सुविधा लागू करने की मांग की है।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags