जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। वर्कशाप के रास्ते खिड़की तोड़कर दुकान में घुसे चोरों ने सोने-चांदी के जेवर पार कर दिए। घटना बेलखाड़ू कटंगी की है। कटंगी थाना प्रभारी राकेश तिवारी ने बताया कि बेलखाड़ू निवासी रवि सोनी आभूषण दुकान का संचालक है। रोजाना की तरह दुकान बंद कर वह घर चला गया था। अगले दिन वह दुकान खोलने पहुंचा।

शटर में लगा ताला खोलने के बाद दुकान में रखे जेवर से भरे डिब्बे गायब थे। डिब्बों में सोने की नाक की लौंग, चांदी के ब्रेसलेट, पायल, अंगूठी, बिछिया, कंगन, छत्र, गिलास, कटोरी, चम्मच, चेन समेत अन्य जेवर रखे थे। आसपास तलाश करने पर दो पहिया वाहन के शोरूम के गैरेज में जेवरों के खाली डिब्बे मिले। इस दौरान पता चला कि चोर शोरूम के वर्कशाप की तरफ से आभूषण दुकान में घुसे थे। इसके लिए चोरों ने दुकान की खिड़की तोड़ी थी। धारा 457, 380 के तहत एफआइआर दर्ज कर आरोपितों की तलाश की जा रही है।

बालाघाट से लौटे तो खुला मिला घर, जेवर व नकदी पार: आंबेडकर कालोनी अधारताल निवासी डॉ. रहीम शाह के सूने घर में चोरों ने सेंध लगा दी। अधारताल थाना प्रभारी शैलेष मिश्रा ने बताया कि डॉ. शाह 20 जुलाई को परिवार समेत चांगूटोला बालाघाट अपने गांव ईद का त्यौहार मनाने गए थे। वे परिवार सहित जबलपुर लौटे तो घर के दरवाजे खुले मिले। दरवाजे पर लगा ताला व सेंट्रल लाक टूटा था। कमरे में रखा गृहस्थी का सामान बिखरा पड़ा था। तीन आलमारियों में रखे 25 हजार रुपये नकद, सोने-चांदी के कीमती जेवर, लोहे की पेटी, पीतल के बर्तन गायब मिले। डॉ. शाह की शिकायत पर प्रकरण दर्ज कर चोरों की तलाश की जा रही है। घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखी जा रही है। कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही हैं

50 हजार व मोटरसाइकिल की खातिर बहू को घर से निकाला: दहेज में 50 हजार रुपये नकद व मोटरसाइकिल की लालच करने वाले लोभियों के खिलाफ गोसलपुर पुलिस ने एफआइआर दर्ज की है। गोसलपुर थाना प्रभारी संजय भलावी ने बताया कि बेला गांव निवासी निधि कुशवाहा को विवाह चेतराम की मढिया रानीताल लार्डगंज निवासी राजेश कुशवाहा से हुई थी। 2018 में हुए विवाह के बाद से ही पति राजेश, ससुर अयोध्या प्रसाद, सास प्रमिला एवं देवर राकेश कुशवाहा दहेज में नकदी व मोटरसाइकिल की मांग कर उसे प्रताडि़त करने लगे। 13 मई की रात उसके साथ मारपीट करने के बाद दहेज लाने तक के लिए घर से निकाल दिया था। तमाम रिश्तेदारों ने मध्यस्थता कराई परंतु ससुराल पक्ष इसी बात पर अड़ा रहा कि नकदी व मोटरसाइकिल मिलने के बाद ही बहू घर जा पाएगी। निधि के मायके में भी ससुराल पक्ष के लोगों की बैठक हुई परंतु दहेज मिले बगैर उन्होंने उसे साथ रखने से इनकार कर दिया। एफआइआर दर्ज कर चारों की तलाश की जा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local