जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। गांवों में रहने वाली आबादी जमीन का सर्वे करने के लिए इन दिनों राजस्व अधिकारी जुट गए हैं। सिहोरा और पाटन तहसील के तहत आने वाले सभी गांवों को ड्रोन सर्वे किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्रों में आबादी का सर्वेक्षण कर शासकीय दस्तावेजों का दुरूस्त करने का काम इन दिनों चल रहा है। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत जिले के कुल 1316 ग्रामों में आबादी भूमि का सर्वेक्षण कार्य किया जाना है।

अपर कलेक्टर विमलेश सिंह ने बताया कि 21 अक्टूबर को तहसील सिहोरा के ग्राम सिमरिया, गोसलपुर एवं धरमपुरा में तथा आज 22 अक्टूबर को ग्राम तिघरा एवं घुघरा में आबादी भूमि का ड्रोन सर्वे किया गया। वहीं ग्राम बंदरकोला का आरओआर तैयार करने की काम हुआ। तहसील सिहोरा में अब तक कुल 151 ग्रामों में से 142 ग्रामों का ड्रोन सर्वे कर आबादी भूमि का रिकॉर्ड तैयार किया। उन्होंने बताया कि तहसील पाटन में 21 अक्टूबर को ग्राम मझगंवा हरदुआ, कुकरभुका, गुड़िया, पैमाखेड़ा, बसिया में व आज 22 अक्टूबर को ग्राम मुसबा, भरतरी एवं रैठरा में ड्रोन सर्वे किया गया। तहसील के 215 ग्रामों में से 31 ग्रामों का ड्रोन सर्वे हुआ।

---------------------------------

दैनिक वेतन भोगी श्रमिक व कर्मचारियों के लिए नई पुनरीक्षित दरें तय: श्रमायुक्त द्वारा शासकीय दैनिक वेतन भोगी एवं दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को दिए जाने वाले वेतन की नई दर्रे लागू कर दी है। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने जिले के सभी शासकीय विभागों में काम करने वाले दैनिक वेतन भोगी श्रमिकों एवं कर्मचारियों के लिए बढ़ा वेतन लागू कर दिया है। आदेश के मुताबिक अकुशल श्रमिकों को अब 8 हजार 800 रुपये, अर्धकुशल श्रमिक को 9 हजार 657 रुपये, कुशल श्रमिक को 11 हजार 35 रुपये देना होंगे। वहीं उच्च कुशल श्रमिक को 12 हजार 335 रुपये न्यूनतम वेतन देना होगा। इसमें न्यूनतम मूलवेतन और बढ़ा हुआ भत्ता शामिल है। सभी कर्मचारियों एवं श्रमिकों को वेतन के साथ-साथ साप्ताहिक अवकाश भी देना होगा। मतलब यह हकि मासिक वेतन में से साप्ताहिक अवकाश के लिए कोई कटौती नहीं की जाएगी। इस आदेश के बाद सभी विभागों ने अपने दैनिक वेतन भोगियों की वेतन बढ़ाने की तैयारी शुरू कर दी है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local