जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ड्यूटी पहले परिवार बाद में। बरगी नगर चौकी प्रभारी ने ड्यूटी के प्रति जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन किया। शनिवार को उनकी शादी की सालगिरह थी, परंतु नर्मदा में डूबे युवक की तलाश में चल रहे रेस्क्यू के कारण वे परिवार के साथ खुशियां नहीं बांट पाए। गोताखोरों के साथ नाव में सवार होकर चौकी प्रभारी आशुतोष मिश्रा नर्मदा में डूबे युवक की तलाश में जुटे रहे। बताया जाता है कि बरगी नगर चौकी अंतर्गत बसा गांव निवासी दिनेश बर्मन (20) नर्मदा के बसा घाट में डूब गया था, जिसके बाद से उसका पता नहीं चला। उसकी तलाश में लगातार पुलिस ने रविवार को चौथे दिन रेस्क्यू प्रारंभ कराया। चौकी प्रभारी मिश्रा ने कहा कि विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से प्रेरणा लेकर वे कर्तव्य पर डटे रहे। घर पर सालगिरह मनाने की तैयारियां की गई थीं परंतु वे नहीं पहुंच पाए।

युवक के इंतजार में लगाए हैं टकटकी: इधर, नर्मदा में डूबा दिनेश कहीं सुरक्षित मिल जाए इस इंतजार में घर वाले टकटकी लगाए बैठे हैं। चार दिनों से रो-रोककर स्वजन की आंख के आंसू सूख चुके हैं। उनका दिल यह मानने के लिए तैयार नहीं है कि दिनेश के साथ कुछ अनहोनी हो गई होगी। रेस्क्यू के दौरान परिवार के सदस्य नर्मदा के घाट पर डटे रहते हैं।

पांच किलोमीटर तक नहीं चला पता: रेस्क्यू कार्य में जुटी टीम ने नर्मदा में करीब पांच किलोमीटर के दायरे में दिनेश की तलाश की परंतु चौथे दिन भी उसका पता नहीं चल पाया है। चौकी प्रभारी मिश्रा ने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम के माध्यम से नर्मदा तट वाले जबलपुर व पड़ोसी जिलों के पुलिस थानों को सूचना दे दी गई है।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags