जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मानसून की पहली जोरदार बारिश ने बिजली व्यवस्था को भी प्रभावित कर दिया। कई इलाकों में बारिश के साथ ही बिजली सप्लाई भी बंद हो गई। देर शाम तक बिजली बंद होने की शिकायतों का अंबार लग गया। एक हजार से ज्यादा शिकायत शहर के पांच नगर संभागों में दर्ज हुई। बिजली अधिकारियों का दावा है कि बारिश के बाद ही कुछ देर में बिजली सप्लाई प्रमुख इलाकों में बहाल हो गई। तेजी बारिश के चलते शहर के 10 फीडरों में तकनीकी खराबी आई। इस वजह से करीब 40 हजार से ज्यादा उपभोक्ताओं को बिजली एक घंटे से ज्यादा वक्त तक बिना बिजली के रहना पड़ा।

दफ्तर में पानी भरा-

नगर संभाग दक्षिण के रामपुर स्थित बिजली दफ्तर में पानी भर गया। यहा का कम्प्यूटर सेंटर के अंदर पानी भर गया। इसके अलावा शक्ति भवन में भी बिजली गुल हो गई। यहां के रामपुर, ग्वारीघाट, आदर्शनगर, सुखसागर, शक्ति भवन, ग्वारीघाट, गोरखपुर, गोकलपुर, रांझी, रादुविवि, अधारताल, मिलौनीगंज, दीक्षिपुरा, उखरी रोड, विजयनगर, रानीताल, मेडिकल, भूकंप कालोनी, धनवंतरी नगर, रामपुर, सिविक सेंटर, बल्देवबाग, चेरीताल, बिलहरी, सदर आदि क्षेत्रों में बिजली गुल हो गई। हालांकि बारिश के दौरान ही कई क्षेत्रों में सुधार कार्य भी बिजली कर्मियों द्वारा किया गया। शिकायतों को दूर करने के लिए देर रात तक अमला जुटा रहा। बारिश के कारण कटंगा सब स्टेशन में एमई और सीटी उड़ गया। इसके चलते फीडर क्षेत्र की पूरी बिजली बंद हो गई। इसी तरह ग्वारीघाट रोड स्थित सब स्टेशन में भी फाल्ट आने से शक्ति भवन एवं ग्वारीघाट क्षेत्र की बिजली करीब दो घंटे के लिए बंद हो गई। गोकलपुर के 33 केवी में फाल्ट आने से बिजली बहुत देर बंद रही। इस संबंध में अधीक्षण यंत्री सुनील त्रिवेदी ने कहा कि 10 फीडर में खराबी आने के कारण बिजली बंद हुई। जिसे कुछ देर में सुधार लिया गया।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close