जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोविड 19 के दौरान अपनी ड्यूटी पूरी ईमानदारी से निभाने के दौरान बड़ी संख्या में सरकारी कर्मचारी संक्रमित हो रहे हैं। लगातार इनकी संख्या बढ़ती जा रही है, लेकिन वर्तमान परिस्थिति ऐसी है कि इस हालात में भी उनकी कोई खबर नहीं ले रहा है। सरकारी कर्मचारियों की इस हालात पर कर्मचारी संघ ने अपत्ति दर्ज की है। उन्होंने कहा है कि कर्मचारियों को उचित इलाज मिले और निजी अस्पताल में उन्हें भर्ती की सुविधा भी दी जाए।

मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के अटल उपाध्याय ने बताया कि कोविड-19 कोरोना महामारी के संक्रमण के चलते सरकारी कर्मचारी भारी मात्रा में संक्रमित होते जा रहे हैं। उनको शासकीय अस्पतालों में बीमारी का उचित ईलाज नहीं मिल रहा है। निजी अस्पताओं में कर्मचारियों के ईलाज की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। कोरोना पीड़ित कर्मचारी एवं उनका परिवार भर्ती हेतु निजी अस्पताओं के चक्कर काट रहे है। उन्हें वहां भर्ती नहीं किया जाए रहे। प्रदेश सरकार को ​अपने कर्मचारियों की ओर भी ध्यान देना चाहिए, ताकि वे और उनकी परिवार स्वस्थ रह सके।

सरकारी कर्मचारियों को निजी अस्पताल में मिली इलाज: कर्मचारी संघ के अटल उपाध्याय, नन्दु चंसोरिया, चन्दु जाउलकर, मुन्नालाल पटैल, आर. के.गुलाटी, अरूण दुबे, बिटू आहलोवालिया, उमेश पारखी, विजय सेन, मस्तराम राय, शकिल खान, अनिल दुबे, आशुतोष तिवारी, सुरेन्द्र जैन, नितिन अग्रवाल, गगन चौबे, मो० तारिख, धीरेन्द्र सोनी, संतोष तिवारी, प्रियांशु शुक्ला, अभिषेक मिश्रा, राजकुमार सिंह, देवदत्त शुक्ला, सोनल दुबे, विजय कोष्टी, प्रणव साहू, महेश कोरी, आदि ने जिला प्रशासन से मांग की है शासकीय कर्मचारियों के कोरोना के ईलाज के लिए निजी अस्पताओं को निर्धारित की जावे।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags