जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। हिंदी एक ऐसी भाषा है, जिसमें आप को सभी भाषाओं के शब्द मिल जाएंगे। इसलिए हिंदी का सरकारी कामकाज में अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए। यह बात मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के पीएफ कमिश्नर अजय मेहरा ने व्यक्त किए। वे विजय नगर स्थित भविष्य निधि कार्यालय में आयोजित हिंदी पखवाड़े के समापन अवसर पर बोल रहे थे। इस अवसर पर साहित्यकार मोहन शशि, डा. जितेंद्र जामदार, डा. राजेश धीरावाणी भी मौजूद रहे।

निबंध में अरुणा प्रथम : हिंदी पखवाड़े के दौरान विविध प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इसमें विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। निबंध स्पर्धा में अरुण सिंहा प्रथम, कमल कोष्टा द्वितीय, अर्चना साहू तृतीय और सांत्‍वना पुरस्कार प्रियरंजन सिंह को दिया गया। टिप्पणी आलेखन में मनीष रंजन सहाय प्रथम, आशीष श्रीवास्तव द्वितीय, किरण पलावत तृतीय एलं सांत्‍वना पुरस्कार अरुण सिंहा का दिया गया। राजभाषा स्पर्धा में प्रथम वीरेंद्र चौरसिया, कृष्ण कुमार कोष्टा द्वितीय, प्रियरंजन सिंहा तृतीय एवं सांत्वना पुरस्कार राजीव सिंह को दिया गया।

इन्‍हें मिला पुरस्‍कार : कम्प्यूटर पर हिंदी का प्रयोग स्पर्धा में विकेश गढ़वाल प्रथम, आशीष श्रीवास्तव को दूसरा और विजय सिंग को तीसरा पुरस्कार दिया गया। विचार प्रतियोगिता में पंकज टहनगुरिया प्रथम, छवि कुमार दूसरा और वीरेंद्र चौरसिया तीसरे स्थान पर रहे। सांत्‍वना पुरस्कार कमलेश सिंहा को दिया गया। हिंदी प्रयोग प्रोत्साहन योजना में अर्चना साहू, सुहासिनी नासेरी, कमल किशोर कोष्टा, मिलिंद मोहाड़ीकर, राजेश कुमार कोष्टा, रामसिंह ठाकुर, जितेंद्र डोंगरे, वीरेंद्र चौरसिया, संतोष मिश्रा और शाबाना वेलेस्की को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन लेखा अधिकारी शिवेंद्र खम्परिया एवं रूपसिंह मरावी ने किया। आभार प्रदर्शन सहायक भविष्य निधि आयुक्त शुभम अग्रवाल द्वारा किया गया।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local