जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। भू-माफिया से कब्जे खाली हो रहे हैं वहीं बिजली विभाग ही सरकारी जमीनों पर कब्जा करवाने में जुटा है। निजी ट्रांसफॉर्मर को सरकारी जमीन में बैठाने का खेल विभाग खेल रहा है। पहले जहां थाने के सामने ट्रांसफॉर्मर बैठाने की कोशिश की वहां से पुलिस ने ऐतराज किया तो सार्वजनिक शौचालय की जमीन को घेर लिया है। विभाग के अधिकारी इस खेल में पूरी तरह से मिले हुए है तभी तो निजी कॉम्पलेक्स का ट्रांसफॉर्मर सरकारी जमीन पर रखवाया जा रहा है।

क्या है मामला: नगर संभाग उत्तर में आधारताल चौराहे के पास एक कमर्शियल कॉम्पलेक्स बना है। लोड मेंटेनेंस के लिए ट्रांसफॉर्मर लगाया जाना है। कॉम्पलेक्स संचालक के इशारे पर पहले आधारताल थाने के नए भवन के सामने ट्रांसफार्मर लगाया जा रहा था। इसके लिए स्ट्रक्चर बनाकर पोल खड़े भी हो गए। बाद में पुसिल की तरफ से ऐतराज जाहिर किया गया। उन्होंने कहा कि निजी ट्रांसफॉर्मर को थाने के सामने क्यों लगाया जा रहा है। इसे हटाया जाए। थाने से पत्र मिलने के बाद बिजली अधिकारियों ने इसे हटा दिया। अब ट्रांसफॉर्मर थाने से आगे बने पब्लिक टायलेट के बाहर लगा दिया गया है। ये भी सरकारी जमीन पर ही गड़ा है।

नियम क्या है: किसी भी निजी ट्रांसफॉर्मर को उपभोक्ता के परिसर में ही लगाया जाना चाहिए। उसकी सुरक्षा और देखरेख का जिम्मा भी उपभोक्ता का होता है। दरअसल काम्पलेक्स की जमीन महंगी है ट्रांसफार्मर जहां भी लगता है वहां 6 से 7 फीट के दायरे में कोई अन्य गतिविधि नहीं हो सकती है ऐसे में काम्पलेक्स संचालक को काफी महंगी जमीन इसके लिए देनी पड़ती इसी वजह से सरकारी जमीन का उपयोग ट्रांसफॉर्मर बैठाने में किया जा रहा है। बता दे कि शौचालय से ठीक सटाकर ट्रांसफार्मर बैठाया गया है जिससे कभी भी यहां दुर्घटना हो सकती है।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags