जबलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

विजय नगर में चल रहे गायत्री महायज्ञ में आहुतियां देते हुए श्रद्धालुओं ने विश्व शांति की कामना की। बुधवार को समापन पर शांतिकुंज से आए नमोनारायण पांडेय ने कहा कि आचार्य श्रीराम शर्मा का रूप देखकर ही लोगों को समझना चाहिए कि युग निर्माण, युग परिवर्तन की बात दो लोग ही कर सकते हैं। उन्होंने वेद पुराण उपनिषद वांग्मय, रामायण, गीता आदि सभी कुछ सरल हिंदी भाषा में आधुनिक युग को ध्यान में रखते हुए वैज्ञानिक आधार पर लिखी। 24 हजार से अधिक गायत्री शक्तिपीठों का निर्माण कोई देव पुरुष ही कर सकता है। इस अवसर पर इंदु राय, वंदना राजपूत, कल्पना शर्मा, मृदुला शर्मा, सरोज विश्वकर्मा आदि उपस्थित रहीं।

1100 फीट की चुनरी से होगा श्रृंगार

मां नर्मदा जन्मोत्सव के एक दिन पूर्व शुक्रवार को शाम 4 बजे नर्मदा उमाशंकर चुनरी भक्त समिति द्वारा 1100 फीट की चुनरी से ग्वारीघाट में मां का श्रृंगार किया जाएगा। इसके लिए आधुनिक मशीनों का उपयोग किया जाएगा। इस मशीन को अभिनव सिंह ठाकुर, चंद्रशेखर पटेल, अभिषेक विश्वकर्मा, आशु सिंह, राकेश सिंह ठाकुर, अरविंद सिंह ठाकुर ने तैयार किया है।

तीन दिवसीय प्रवचन 31 से

आर्य केंद्रीय सभा के तत्वावधान में तीन दिवसीय वैदिक प्रवचन एवं सत्संग का आयोजन 31 जनवरी से 2 फरवरी तक आर्य समाज दयानंद भवन नेपियर टाउन में किया जा रहा है। जहां सुबह 8 से 9.30 बजे और शाम 6.30 से 8 बजे तक प्रवचन होंगे। प्रवचन देने दर्शन योग महाविद्यालय रोजड़ गुजरात के निदेशक स्वामी विवेकानंद परिव्राजक आ रहे हैं। उपस्थिति की अपील बृजमोहन नेहरा, राजेंद्र पटेल, अतुल साहू, आचार्य धीरेंद्र पांडे, सतेंद्र शास्त्री, डॉ. ईश्वर मुखी, सुदेश धमिजा आदि ने किया है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket