जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नकली दवा के क्रय-विक्रय के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) और मध्य प्रदेश नर्सिंग होम एसोसिएशन ने मोर्चा खोल दिया है। दोनों चिकित्सा संगठनों के पदाधिकारियों ने इस मुद्दे को लेकर पुलिस अधीक्षक अमित सिंह के साथ बैठक की, जिसमें निर्णय लिया गया कि प्रत्येक अस्पताल में शिकायत पेटी लगाई जाए ताकि नकली दवा के खिलाफ जागरूक नागरिक लिखित शिकायत कर सकें। शिकायत पेटियों को संबंधित पुलिस थाना के अधिकारी व अस्पताल के कर्मचारी के समक्ष खोला जाएगा।

मप्र नर्सिंग होम एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. जितेन्द्र जामदार, जिला अध्यक्ष डॉ. मुकेश श्रीवास्तव, सचिव डॉ. अमरेन्द्र पाण्डे ने बताया कि सोशल मीडिया पर चिकित्सकों और अस्पतालों के खिलाफ की जा रही अभद्र टिप्पणी चिंता का विषय है। जिसे लेकर पूर्व में पुलिस अधीक्षक से शिकायत करते हुए चिकित्सक संगठनों ने कार्रवाई की मांग की थी। गुरुवार को आईएमए व नर्सिंग होम एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर नकली दवा के कारोबार पर चिंता जाहिर की। डॉ. श्रीवास्तव ने कहा कि नशे के रूप में उपयोग की जा रही दवाओं की बिक्री को लेकर पुलिस प्रभावी कार्रवाई कर रही है। इसी तरह नकली दवाओं के कारोबार को भी रोका जाना चाहिए। नकली दवा का निर्माण करने वाले, बिचौलिये तथा विक्रेताओं को पकड़कर वैधानिक कार्रवाई की जानी चाहिए। डॉ. जामदार ने कहा कि जरूरतमंद मरीजों को खून की एक यूनिट के लिए परेशान होना पड़ता है। ज्यादा रकम वसूलकर खून की दलाली करने वालों पर भी शिकंजा कसा जाना चाहिए। इस दौरान डॉ. पुष्पराज भटेले, डॉ. एससी बटालिया, डॉ. संगीता श्रीवास्तव, डॉ. अर्चना श्रीवास्तव, डॉ. दीपक साहू, डॉ. प्रज्ञा हर्षे, डॉ. जीएस अहलूवालिया, डॉ. प्रदीप अरोरा, डॉ. वीडी सूर्यवंशी उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket