जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

आज देश में जिस तरह का माहौल बनाया जा रहा है, उसमें महात्मा गांधी, नेहरु के सिद्धांत, कार्यशैली और समर्पण की आवश्यकता है। जब दुनिया एक-दूसरे को जोड़ने का प्रयास कर रही है, तब भारत देश के अंदर मतभेद पैदा करने की साजिश की जा रही है। चाहे सावरकर हों, चाहे अटल बिहारी बाजपेयी हों या गोडसे, सबने अपने जीवनकाल में भारत की एकता और अखण्डता के खिलाफ साजिशें की हैं। यह कहना है प्रदेश के सामाजिक न्याव व निःशक्तजन कल्याण मंत्री लखन घनघोरिया का। वे नगर कांग्रेस सेवादल के तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के उद्घाटन अवसर पर अपने वक्तव्य दे रहे थे। उन्होंने कहा कि सेवादल का मूल स्वभाव जो प्रशिक्षण में दिया जाता है यह सत्य और अहिंसा, गांधीवाद और नेहरुवाद के साथ सिखाया जाता है। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस सेवादल पूरे राष्ट्र के वातावरण को सुधारने के लिए फिर से महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है।

20 लोग होंगे तैयारः

शिविर में मप्र कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष डॉ. सत्येंद्र यादव ने कहा कि जबलपुर की राजनीतिक परिस्थितियों के अनुसार 20 साथियों को तैयार कर प्रशिक्षण दिया जाएगा। वह शहर की बदली हुई राजनीति में अहम भूमिका अदा करेंगे। इस अवसर पर उपाध्यक्ष अशोक बाधवा, उपाध्यक्ष डॉ. नारायण पांडे, संयोजक महेश पसीने, सेवादल के नगराध्यक्ष सतीश तिवारी, महिला विंग अध्यक्ष एड. मीनाक्षी स्वामी, यूथ विंग अध्यक्ष यतेंद्र सोनी, प्रभा सिंह ठाकुर, मीना परिहार, जितेंद्र यादव, ग्रामीण अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव, अरुण पवार, मुन्ना सेन, पूनम मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network