जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

एमपी नर्सिंग होम एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर डॉ. एससी जेठी व अस्पताल के कर्मचारियों के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. जितेन्द्र जामदार ने बताया कि शहर के वरिष्ठ शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. जेठी के नर्सिंग होम में सोमवार रात असामाजिक तत्वों ने तोड़फोड़ करते हुए चिकित्सक व कर्मचारियों के साथ मारपीट की थी। इस दौरान समय रहते मौके पर पहुंची पुलिस ने तत्वों पर काबू पाया जिससे बड़ी घटना टल गई। हमलावरों के खिलाफ चिकित्सकों ने सिविल लाइन थाने में शिकायत की लेकिन पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने से इन्कार कर दिया। घटना के 36 घंटे बीत जाने के बाद भी तत्वों पर एफआईआर न होने से चिकित्सा जगत में नाराजगी बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि तत्वों पर डॉक्टर्स प्रोटेक्शन एक्ट की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर अविलंब गिरफ्तारी की जाए ताकि चिकित्सक भयमुक्त वातावरण में चिकित्सा व्यवसाय कर सकें। इस दौरान डॉ. एससी बटालिया, डॉ. एससी जेठी, डॉ. सुनील बहल, डॉ. अर्चना श्रीवास्तव, डॉ. संगीता श्रीवास्तव, डॉ. शिरीष नाइक, डॉ. गोपाल पोल, डॉ. अनिल दुबे, डॉ. क्षितिज भटनागर, डॉ. अमित गौर, डॉ. प्रदीप अरोरा, डॉ. विशाल कालिया, डॉ. अमोल पोल, डॉ. अल्का अग्रवाल, डॉ. पुष्पराज भटेले, डॉ. पुष्पेन्द्र जैन, डॉ. गौरव कोचर, डॉ. अमरेन्द्र पांडे, डॉ. कीर्ति जैन, डॉ. जीएस अहलूवालिया, डॉ. सबीहा खान, डॉ. अभिजीत मुखर्जी, डॉ. राजेश अग्रवाल, डॉ. अनिल दुबे उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network