जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज अस्पताल के जूनियर डॉक्टरों ने संसाधनों की कमी पर हालात भयावह होने की आशंका जाहिर की है। गुरुवार को जूडा एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने डीन डॉ. प्रदीप कसार से मुलाकात कर समस्याओं का ज्ञापन सौंपा। जूडा एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अक्षय भार्गव ने बताया कि मेडिकल के आकस्मिक चिकित्सा कक्ष में कार्यरत चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ पर कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ को एन-95 मास्क व पर्सनल प्रोटक्शन इक्यूपमेंट, पीपीई किट नहीं दिए जा रहे हैं। लगभग यही स्थिति आईसीयू में भी बनी हुई है। मेडिकल प्रबंधन से जब भी मास्क व पीपीई किट की मांग की गई, यही जवाब मिला कि ऑर्डर भेज दिया गया है, माल की आपूर्ति नहीं हो पाई है। मेडिकल द्वारा जो एन-95 मास्क खरीदे गए थे, आकस्मिक चिकित्सा कक्ष व आईसीयू में डॉक्टरों को नहीं दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि कैजुअल्टी में तमाम ऐसे मरीज आते हैं, जिनके एक्सपोज्ड या इन्फेक्टेड होने की आशंका रहती है। यदि एक मरीज भी कोरोना वायरस पॉजिटिव मिला तो उसके कारण कई डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ व तमाम मरीज, कर्मचारी खतरे में आ जाएंगे और स्थिति भयावह हो जाएगी। उपचार करने वाले डॉक्टर ही बीमार हो जाएंगे तो मरीजो का क्या होगा। इस दौरान सचिव डॉ. देवेश सिंह, डॉ. राहुल गुप्ता, डॉ. अभिषेक, डॉ. संजय राठौर, डॉ. राहुल अहिरवार, डॉ. मनीष महोबिया, डॉ. दीपक गुप्ता, डॉ. रिया जैन, डॉ. शुभम, डॉ. विपिन अग्रवाल, डॉ. प्रियंका गोयल, डॉ. प्रभात शुक्ला आदि उपस्थित रहे। इस दौरान डॉ. कसार ने जूडा को आश्वास्त किया कि आवश्यक सामग्रियों का ऑर्डर जारी किया जा चुका है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket