राजीव उपाध्याय

जबलपुर। नईदुनिया

जिलों में कांग्रेस के अध्यक्ष केवल 3 साल तक पद पर रहेंगे। इसके बाद नया अध्यक्ष चुना जाएगा। ऐसा प्रस्ताव ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी की दिल्ली में आयोजित महासभा में पास हुआ था। इसका आयोजन ताल कटोरा स्टेडियम में उस वक्त किया गया था जब कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी खुद भी यही चाहते थे कि सभी को मौका मिले। इससे कार्यकाल 3 साल का कर दिया था लेकिन हुआ कुछ नहीं, सब कुछ ढाक के तीन पात ही रहा। महाकोशल, विंध्य के ही 5 जिलों में अध्यक्षों का कार्यकाल पूरा हो चुका है लेकिन नया अध्यक्ष चुना नहीं गया। इससे अन्य कार्यकर्ताओं में बरसों से निराशा बनी हुई है।

जबलपुर में अध्यक्ष का 10 वां साल :

जबलपुर में शहर अध्यक्ष दिनेश यादव के कार्यकाल का 10 वां साल चल रहा है। शहर में लंबे समय तक अध्यक्ष पद पर इनके पहले केवल स्व. शिवनाथ साहू थे। वे 16 वर्ष तक शहर अध्यक्ष रहे। दिनेश यादव 2010 से शहर अध्यक्ष हैं।

महिला अध्यक्ष का कार्यकाल भी पूराः

जबलपुर में शहर महिला अध्यक्ष रेखा जैन और ग्रामीण महिला अध्यक्ष संगीता सिंह 2014 से इस पद पर हैं। नियमानुसार इनका कार्यकाल भी पूरा हो चुका है।

अन्य जिलों के यह हैं हाल

दमोह में महिला अध्यक्ष (5 वर्ष), बालाघाट में शहर अध्यक्ष (4 वर्ष), अनूपपुर में शहर अध्यक्ष (10 वर्ष), पन्ना में शहर अध्यक्ष (9 वर्ष) व महिला अध्यक्ष (4 वर्ष) से पदों पर आसीन हैं। सिवनी में कार्यकारी अध्यक्ष कार्य कर रहे हैं।

यह पड़ रहा असर :

- कांग्रेस की सरकार जब बनी थी तब कार्यकर्ताओं को आस थी कि संगठन में फेरबदल होगा लेकिन कुछ नहीं हुआ और सरकार भी गिर गई।

- कार्यकर्ताओं को वर्षों से मौका नहीं मिलने से उनमें से निराशा है।

- एक ही पद पर लगातार रहने से अध्यक्षों के उत्साह में भी कमी आ रही है।

- गुटबाजी बढ़ रही है।

लॉकडाउन से सब कुछ लॉक :

लॉकडाउन के कारण सारी राजनीतिक गतिविधियां बंद हो गई हैं। कांग्रेस सरकार के गिरने के बाद से ही कार्यकर्ताओं में निराशा है। अब वे यह समझ चुके हैं कि उन्हें लंबे समय तक कुछ नहीं मिलना। क्योंकि भविष्य में उपचुनाव होने हैं इसलिए नया अध्यक्ष फिलहाल नहीं बनाएंगे।

-----------

यह सही है कि नए लोगों को मौका मिलना चाहिए मैं भी यही चाहता हूं। लेकिन यह प्रदेश अध्यक्ष को तय करना है। लॉकडाउन खुलने के बाद सभी को उपचुनाव की जिम्मेदारी दी जाएगी। सभी सबसे पहले तो उसमें ही जुटेंगे।

दिनेश यादव, अध्यक्ष, शहर कांग्रेस कमेटी

2014 में मुझे यह पद दिया गया था। जोभी पार्टी ने आदेश दिए उसका पालन किया। पार्टी का कोई अन्य आदेश आएगा तो उसका पालन करूंगी।

रेखा जैन, अध्यक्ष, शहर महिला कांग्रेस

यह सही है कि अध्यक्षों का कार्यकाल 3 वर्ष का रहता है लेकिन कई बार परिस्थितियों के अनुसार इसे बढ़ा दिया जाता है। लॉकडाउन की स्थिति खत्म होने के बाद संगठन के चुनाव जब भी होंगे तब यह परिवर्तन किए जाएंगे।

शोभा ओझा, मीडिया प्रभारी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना