जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नर्मदा का वर्तमान स्वरूप देखकर लग रहा है कि अगर कोरोना के कारण लॉकडाउन नहीं होता तो प्रदूषण भी कम नहीं होता। आज मां नर्मदा प्राकृतिक स्वरूप के साथ सौंदर्य दर्शन करा रहीं हैं। यह तभी संभव हो पाया जब लोगों को वहां जाने की मनाही थी। घाट में न किसी ने सफाई अभियान चलाया और न कोई ऐसा कार्य जो सफाई से जुड़ा हो फिर भी जल की शुद्धता बढ़ गई। यह प्रकृति ने ऐसी उपलब्धि दी है जिसे बचाने के लिए हर नागरिक को अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी। 'नईदुनिया प्रयास' में यह कहना है श्रीराम मंदिर मदनमहल के पदाधिकारियों का जो नर्मदा का वर्तमान स्वरूप बनाए रखने अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

भंडारा के लिए बनाई जाए रसोई

मंदिर के अध्यक्ष गुलशन माखीजा का कहना है कि घाटों पर होने वाले भंडारे से ज्यादा कचरा फैलता है। लोग यह ध्यान नहीं देते हैं कि वे पुण्यकार्य कर रहे हैं या प्रदूषण फैला रहे हैं। एक ऐसी रसोई बनाना चाहिए जहां एक साथ कई भंडारे हो सकें और तटों तक कचरा भी न पहुंचे। कई लोग निर्माल्य लेकर नदी में विसर्जन करने जाते हैं, इसे भी रोकना चाहिए। यह निर्माल्य घरों के गमलों में डाला जाए तो पौधों को खाद भी मिल जाएगी।

तीर्थों की नायिका है नर्मदा

मंदिर के पुजारी रामकुशल पांडेय ने कहा कि नर्मदा जीवनदायिनी तो है ही, तीर्थों की नायिका भी है। नर्मदा पावन है इसलिए यहां ऋषियों ने भी तपस्या की। बड़े-बड़े धनाढ्य भी नर्मदा तट पर शांति पाने के लिए आते हैं। नर्मदा दर्शन करने के लिए लोग विदेशों से आते हैं और यहां के लोग इसकी महत्ता नहीं समझ पा रहे। यही कारण है कि घाटों पर नालों का मिलना आज भी जारी है। सह सचिव मनोज नारंग ने कहा कि नर्मदा की निर्मलता बनाए रखने के लिए सरकार के साथ ही प्रशासन को भी ठोस कार्ययोजना बनाना चाहिए। इस दौरान महिला मंडल प्रमुख गीता पांडेय, उपाध्यक्ष मनोज शर्मा, सचिव रमेश शर्मा, मनीष पोपली, बसंत ग्रोवर ने भी विचार व्यक्त किए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना