जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

माढ़ोताल के आगासौद में दिव्यांग युवक और उसकी 3 साल की बेटी की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई। हत्या सोमवार रात लगभग 12 बजे के आसपास हुई थी। रात 1 बजे जब मृतक के भाई ने देखा तो ग्रामीणों को सूचना दी। हालांकि पुलिस को सुबह लगभग 8 बजे मामले की जानकारी दी गई। सूचना पर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा, एएसपी क्राइम गोपाल खांडेल, सीएसपी रोहित काशवानी, क्राइम ब्रांच डीएसपी पीके जैन, माढ़ोताल टीआइ अनिल गुप्ता स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की। जांच के दौरान कोई भी हथियार नहीं मिला है।

आगासौद में रहने वाला दिव्यांग सुशील गोंड (35) और उसकी बेटी संजना (3) कमरे में खून से लथपथ मृत पड़े मिले। ग्रामीणों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। जांच के दौरान देखा कि दोनों की गर्दन किसी धारदार हथियार से काटी गई है। वहीं संजना की गर्दन पर इतना तेज हमला किया गया कि उसकी गर्दन आधी लटक गई।

ननद की शादी में शामिल होने गई थी पत्नीः

मृतक सुशील गोंड की पत्नी सावित्री लगभग तीन दिन पहले तेंदूखेड़ा में ननद के घर शादी समारोह में शामिल होने गई थी। घर में सुशील और उसकी बेटी संजना रह रहे थे। संजना अपने बड़े पिता शंकर के पास ही दिन भर रहती थी। इससे उसकी मां सावित्री को भी अकेले छोड़कर जाने में कोई चिंता नहीं थी।

4 साल पहले की थी सम्मेलन में शादीः

दिव्यांग सुशील अपने भाइयों में सबसे छोटा था। उसका बड़ा भाई शंकर, विष्णु है। एक ही जगह पर तीनों भाइयों के अलग अलग कमरे बने हुए है। शंकर के बच्चे नहीं है, विष्णु की पत्नी का देहांत हो चुका है। सुशील का विवाह लगभग 4 साल पहले दिव्यांग सावित्री से मानस भवन में आयोजित सम्मेलन में हुआ था। दोनों को इसमें लगभग 2 लाख राशि मिली थी। साथ ही दोनों को पेंशन भी मिलती थी। उनकी बेटी संजना (3) भी शंकर के पास ही रहती थी। रात को सोने के लिए बस अपने माता-पिता के पास आ जाती थी।

दो बार पहले भी हो चुकी चोरीः

ग्रामीणों की मानें तो सुशील दिव्यांग तो था, लेकिन उसके पास रुपये रहते थे। उसके घर के कमरे के अंदर ही एक कमरा था, जो बाहर की ओर खुलता था। उस कमरे से वह छोटी किराना दुकान चलाता था। पुलिस ने जब दुकान में रखा गल्ला चेक किया तो उसमें लगभग 300 रुपये मिले। पुलिस का यह मानना है कि यदि कोई चोरी करने घुसा होता तो पूरे रुपये चुराता। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बाद अन्य दूसरे बिंदुओं पर भी जांच की जा रही है।

पर्ची में लिखा मिला हजारों का हिसाब किताबः

पुलिस को दुकान के गल्ले की जांच करने पर एक पर्ची मिली। उसमें रविवार से शुक्रवार तक हिसाब लिखा है। किस दिन कितने रुपये देना है यह हिसाब लिखकर काटे गए हैं। इससे पुलिस को यह भी शंका है कि मृतक सुशील सट्टे का काम भी करता था। शुक्रवार के बाद उसने शनिवार लिखा है, लेकिन उसमें कोई रकम नहीं लिखी।

सरपंच से कहना चाहता था कुछ बातः

गांव के सरपंच सनेक सिंह चौहान को सोमवार की रात लगभग 10 बजे दिव्यांग सुशील ने फोन लगाया था। सरपंच उस वक्त बरगी से लौट रहे थे। सुशील ने कहा था कि कुछ जरूरी बात करना है। इसके बाद फोन कट गया था। सरपंच ने फिर से फोन लगाया, तो सुशील ने कहा कि गांव में जब आओ तो बात करेंगे।

रैकी कर की गई हत्याः

पुलिस अधिकारियों की जांच का बिंदु इस ओर भी जा रहा है कि यह अचानक की गई हत्या नहीं है। हत्या करने वाले ने योजना के साथ इस घटना को अंजाम दिया है। हत्या करने वाले को यह पता था कि उसकी पत्नी नहीं है। बेटी बड़े भाई शंकर की चहेती है तो उसके पास होगी और सुशील कमरे में अकेला होगा। लेकिन वहां बच्ची भी सोती मिल गई।

अज्ञात पर 10 हजार का इनाम घोषितः

एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने डबल मर्डर मामले में गढ़ा सीएसपी रोहित काशवानी के नेतृत्व में माढ़ोताल टीआइ अनिल गुप्ता और माढ़ोताल स्टाफ और क्राइम ब्रांच की टीम गठित की है। साथ ही 10 हजार का इनाम घोषित किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना