जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

भगवान श्रीराम की अयोध्या नगर में राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन में जबलपुर का नर्मदा जल और माटी भी शामिल होगी। विहिप महाकोशल प्रांत द्वारा नर्मदा तट की पवित्र माटी और जल को कलश में भेजा जा रहा है।

रविवार को समन्वय सेवा केंद्र में पूजन कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें जगतगुरु डॉ. स्वामी श्यामदेवाचार्य, महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि, स्वामी मुकुंददास, स्वामी कालीनंद, स्वामी राजारामाचार्य, रामजी शरण, विहिप के डॉ. कैलाश गुप्ता, जुगराजधर द्विवेदी, मुन्ना पांडे आदि ने कलश पूजन कर दीप प्रज्ज्वलित किया। नन्हीं नर्मदा भक्त तेजस्विनी दुबे ने मां गंगा, जमुना, सरस्वती, गोमती, कृष्णा, मान सरोवर सहित नर्मदा जल को मिलाकर नदियों का जल भी अयोध्या के लिए संतों को सौंपा। तेजस्विनी ने सभी नगर वासियों से 5 अगस्त को अपने घरों में दीपक जलाने का आह्वान किया। इस अवसर पर संतों ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा की श्री राम सनातन धर्म में मर्यादा और आदर्श के प्रतीक हैं, वे परम आराध्य है। इस अवसर पर स्वामी प्रकाशानंद, राजीव अवस्थी, रूपेश नायडू , नर्मदा महाआरती के संयोजक ओंकार दुबे, जुगल त्रिपाठी, राजेश तिवारी, विजय यादव आदि उपस्थित रहे।

...................

सांसद ने की दीप जलाने की अपील

भगवान श्रीराम के मंदिर का निर्माण देश की प्रेरणास्थली का पुनःनिर्माण है और राममंदिर देशवासियों के लिए गौरव का प्रतीक है। लोकसभा के मुख्य सचेतक सांसद राकेश सिंह ने कहा कि जनता से अपील की है कि 5 अगस्त को सभी घरों में घी के दीपक जलाएं। अखंड रामायण पाठ करें ताकि दुनिया को दिखाई दे कि श्रीराम मंदिर निर्माण जिसका सपना हर भारतवासी ने वर्षों से देखा है आज देश की उस प्रेरणास्थली का पुनः निर्माण प्रारंभ हो रहा है।

..................

श्रीरामलीला गढ़ा में होगा श्रीराम का पूजन

5 अगस्त को श्रीरामलीला गढ़ा में भगवान राम का पूजन कर मिष्ठान का वितरण किया जाएगा। समिति के संयोजक अशोक मनोध्याय ने बताया कि श्रीरामलीला समिति इस उपलक्ष्य में कोविड 19 के सभी नियमों का पालन करते हुए तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन करेगी। साथ ही कहा कि मैंने श्रीराम जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन का और सभी कारसेवकों का नेतृत्व विश्व हिंदू परिषद के जिला महामंत्री के रूप में किया था। जो कारसेवक आज जीवित हैं वे सब अपने इस जन्म को सफल मानकर अत्यंत हर्षित होगें। महामंत्री राजेन्द्र प्यासी, कार्यकारी अध्यक्ष रमाशंकर कटारे, सदस्य शरद दुबे एवं हरीश मनोध्याय ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण प्रारंभ होने के अवसर पर 4 अगस्त से सिद्ध मंच को विद्युत साज सज्जा युक्त कर 1008 दीपमाला से सजाकर 5 से 7 अगस्त तक शाम 4 से 7 बजे तक भगवान श्रीराम का पूजन अर्चन, श्रीराम संकीर्तन के साथ किया जाएगा। समिति के भोलाराम खत्री, राजेश नेमा, भूपेन्द्र उपाध्याय, लोकराम कोरी एवं दिनेश मिश्रा ने कहा कि जिस कार्यकर्ता को सूचित किया जाए वहीं सिद्ध मंच पर आए।

...................

राम मंदिर मदनमहल में होगी महाआरती

मदनमहल स्थित राम मंदिर में 5 अगस्त को सुबह 11.45 से 12.30 बजे तक महाआरती, घंटानाद और शंखनाद किया जाएगा। इसके अलावा शाम 5 बजे से सुंदरकांड पाठ का दीप जलाकर खुशियां मनाई जाएगी। समिति के अध्यक्ष गुलशन माखीजा, रामकुशल पाण्डे, मनोज शर्मा, मनोज नारंग, रमेश शर्मा, मनीष पोपली आदि ने सभी से घरों पर खुशियां मनाने कहा है।

.................

मंदिर की आधारशिला विश्व के लिए उल्लास का पर्व

अयोध्या में पांच अगस्त को राम मंदिर का निर्माण नहीं बल्कि राष्ट्र निर्माण का दिन है। ये विश्व में राम भक्तों की आस्था का दिन है। लगभग पांच शताब्दियों से प्रतीक्षा, संघर्ष और सनातनी बंधुओं के स्वप्न साकार होने का दिन है। जिसमें राम मंदिर की आधारशिला रखी जाएगी। यह कहना है जगतगुरु राघवदेवाचार्य महाराज का। उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की ओर से समाचार प्राप्त हुआ लेकिन चातुर्मास के नियम होने के कारण मैं भी दूरदर्शन के माध्यम से व अपनी मानसिक उपस्थिति के साथ उपस्थित रहूंगा। मेरी अपील है कि विश्व के किसी भी भाग में मौजूद समस्त श्रद्धालु 4 और 5 अगस्त को अपने-अपने निवास पर दीपक जलाएं और सुंदरकांड का पाठ करें।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan