जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

औद्योगिक क्षेत्र रिछाई-महाराजपुर के बीच रेल ओवर ब्रिज (आरओबी) बनाने का काम करीब सवा दो साल से लगातार चल रहा है। यह आरओबी बनने में अभी 6 माह और लगेंगे। जबकि लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) व गुजरात की ठेका कंपनी ने सिर्फ 18 माह में यह आरओबी बनाने का अनुबंध किया था। वर्तमान में यह अधूरा कार्य लोगों की परेशानी का सबब बन गया है।

रिछाई के उद्योगपति आशीष अग्रवाल, नरेन्द्र सोमैया, डीआर जेसवानी ने बताया कि रिछाई रेलफाटक ज्यादातर बंद रहता है। इस फाटक पर जाम लगने से संस्थानों के कर्मचारी, वाहन चालक परेशान होते हैं। साथ ही संस्थानों को कच्चा माल की आपूर्ति में समय लगता है। उद्योगपतियों की मांग पर शासन ने रिछाई-महाराजपुर रेल फाटक पर ओवर ब्रिज बनाना मंजूर किया। पीडब्ल्यूडी सेतु ने यह आरओबी बनाने गुजरात की चैतन्य कंस्ट्रक्शन कंपनी का चयन किया। इस ठेका कंपनी ने अप्रैल 2018 में यह आरओबी बनाने का काम शुरू किया। इस कंपनी के काम के चलते नागरिक कच्ची सड़क से होकर गुजरते रहे। उद्योगपतियों की शिकायत पर पीडब्ल्यूडी ने कच्ची सड़क चलने लायक बनाई। इसके बाद कंपनी आरओबी के 'एल' आकार में 8-9 पियर बनाए। इस कार्य के चलते रेलवे के ठेकेदार ने यहां अंडरपास बनाया, जिससे नागरिकों को कुछ राहत मिली। बारिश में एक बार फिर साढ़े 17 करोड़ की लागत से बनने वाला अधूरा आरओबी समस्या का कारण बन गया है। वहीं पीडब्ल्यूडी ने ठेका कंपनी को आरओबी का काम पूरा करने 6 माह का अतिरिक्त समय भी दे दिया है।

कर्मचारियों के बीच विवादः

रिछाई के मोहन रजक, लाली बर्मन ने बताया कि पीडब्ल्यूडी और रेलवे की दो कंपनियां रेल ओवर ब्रिज बनाने का काम कर रहीं हैं। इस दौरान पीडब्ल्यूडी और रेलवे के ठेकेदार के कर्मचारियों के बीच विवाद होता रहता है। चैतन्य कंस्ट्रक्शन कंपनी के मैनेजर प्रवीण कुमार इसी वजह से जनवरी में काम छोड़कर गुजरात चले गए।

पटरियों के बगल में बनेंगे पियरः

रेलवे का ठेकेदार रेल पटरियों के बगल में दो पियर बनाएगा। इन पियरों के ऊपर गार्डर भी रखेगा। रेलवे का ठेकेदार अभी एक पियर बनाने का काम कर रहा है। यह काम पूरा करके वह दूसरा पियर बनाएगा, जिसमें करीब 3 माह लगेंगे।

.............

रिछाई-महाराजपुर का आरओबी बनने में अभी कुछ समय और लगेगा। गुजरात की कंपनी को काम पूरा करने अतिरिक्त समय दिया है। कंपनी ने रेलवे ठेकेदार के श्रमिकों द्वारा काम के बजाए विवाद करने की शिकायत की है।

-प्रभाकर सिंह परिहार, कार्यपालन यंत्री, पीडब्ल्यूडी (सेतु), जबलपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020