जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

भादों महीने का मुख्य पर्व जन्माष्टमी इस बार दो दिन मनाई जाएगी। दरअसल तिथि और नक्षत्र एक साथ नहीं होने से यह स्थिति बन रही है। ऐसे में कई लोग मंगलवार को जन्माष्टमी मना रहे हैं। वहीं बुधवार को उदया तिथि होने के कारण अधिकांश लोग इस दिन कन्हैया का जन्मोत्सव मनाने की तैयारी कर रहे हैं।

इस तरह है तिथि और नक्षत्रः

जन्माष्टमी की तारीख को लेकर इस बार कई मत हैं। जन्माष्टमी 11 अगस्त मंगलवार के दिन है या 12 अगस्त को। हालांकि 12 अगस्त को जन्माष्टमी मनाना श्रेष्ठ बताया जा रहा है। क्योंकि 11 अगस्त को सुबह 6ः08 बजे के बाद अष्टमी तिथि का आरंभ होगा। जो 12 अगस्त को सुबह 7ः54 बजे तक रहेगी। वहीं रोहिणी नक्षत्र का आरंभ 12 अगस्त को रात 1ः20 बजे से 13 अगस्त को रात 3ः06 बजे तक रहेगा।

..........

बगलामुखी मंदिर में आयोजन आजः

सिविक सेंटर स्थित बगलामुखी मंदिर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व मंगलवार को मनाया जाएगा। सुबह भगवती का श्रृंगार कृष्ण रूप में किया जाएगा। दोपहर में भू एवं शाम को भगवान कृष्ण का अति रूप श्रृंगार किया जाएगा रात में ब्रह्मचारी चैतन्यानंद महाराज द्वारा विशेष पूजन एवं रात 12 बजे कृष्ण जन्म उत्सव मनाया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020