जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कोरोना संक्रमण की रफ्तार के साथ लोगों की भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही। जिला प्रशासन की तरफ से भी भीड़ घटाने के प्रयास देखने नहीं मिले। कलेक्टर कार्यालय में रोज सैकड़ों की संख्या में लोग बीपीएल राशन कार्ड के आवेदन जमा करने आते हैं। यह बात अलग है कि पहले से जमा किसी भी आवेदन पर कार्ड बनाकर नहीं दिए जा रहे हैं। इसी तरह जिन लोगों के कार्ड स्वीकृत हो चुके थे, ऐसे सैकड़ों लोग सुबह से शाम तक पात्रता पर्ची लेने के लिए आ रहे हैं। इससे कलेक्टर कार्यालय में शारीरिक दूरी का पालन कराना मुश्किल हो गया है।

आवेदन पर लगना चाहिए रोक

कई अधिवक्ताओं का तर्क है कि जब बीपीएल राशन कार्ड के आवेदनों पर किसी तरह का निर्णय नहीं लिया जा रहा तो आवेदन जमा कराने पर रोक लगना चाहिए। सिर्फ लोकसेवा केंद्र में जमा होने वाले आवेदनों की राशि के प्राप्त की जा रही है। क्योंकि आवेदन जमा कराने वाले बार-बार कलेक्टर कार्यालय के अलावा एसडीएम कार्यालयों में आकर पूछताछ भी करते हैं। जिससे भीड़ कम करना मुश्किल हो चुका है।

पेशी के लिए भी बुलाते

- कलेक्टर न्यायालय सहित अपर कलेक्टर कोर्ट, एसडीएम कोर्ट में बहुत जरूरी प्रकरणों में ही सुनवाई की जा रही है। जिन लोगों को पेशी की अगली तारीख मिलती है, वे उसी दिन कार्यालय पहुंच जाते हैं। अधिकारी काम करना बंद नहीं कर सकते और जनता अपने प्रकरण की सुनवाई के लिए आती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020