जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कोरोना संक्रमण के कारण स्कूलों की पढ़ाई चरमरा गई है। कहने को स्कूल आनलाइन पढ़ाई करवा रहे हैं, लेकिन असल में कम ही विद्यार्थी इसका लाभ ले पा रहे हैं। प्रशासन के पास लाभांवित विद्यार्थियों का कोई वास्तविक आंकड़ा नहीं है। 8 हजार से ज्यादा विद्यार्थियों के पास आनलाइन पढ़ाई के लिए जरूरी संसाधन तक नहीं है। इधर विभाग ने करीब 35 फीसद ही कोर्स किया है जबकि नवंबर माह में छह माही परीक्षा होती है। मार्च में होने वाली बोर्ड परीक्षा से पहले कोर्स पूरा हो पाएगा कि नहीं इस बारे में भी अफसर खामोश हैं।

20 सितंबर से स्कूल शिक्षा विभाग ने कक्षा 9वीं से 12 वीं तक के लिए स्कूल खोला। इसमें विद्यार्थियों को स्वेच्छा से आने का विकल्प रखा गया है। स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या नगण्य रही। इस वजह से आनलाइन ही पढ़ाई विभाग से करवाई गई। विभागीय सूत्रों की माने तो ग्रामीण अंचल में रहने वाले विद्यार्थियों के पास आनलाइन पढ़ाई के लिए एंड्रायड फोन तक नहीं है वहीं ज्यादातर के पास पर्याप्त इंटरनेट की सुविधा नहीं होने से पढ़ाई करने में मुश्किल आ रही है। जिले के अधिकारियों का कहना है कि परीक्षाएं होंगी कि नहीं इस बारे में विभागीय अधिकारियों से स्पष्ट निर्देश नहीं हैं। नवंबर के बाद जब स्कूल खुलेंगे तभी तस्वीर साफ होगी।

क्लास का पता नहीं

आनलाइन पढ़ाई के नाम पर सरकारी स्कूलों में सिर्फ खानापूर्ति हो रही है। अफसरों को अभी तक ये नहीं पता कि कितनी पढ़ाई आनलाइन हुई है। विद्यार्थी कितने लाभांवित हुए है। शिक्षक हाथ धुलाई और मोहल्ला क्लास के कार्यक्रम में जुटे हैं।

मंडल भरवा रहा परीक्षा फार्म-

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने इस वर्ष होने वाली परीक्षाओं के आनलाइन फार्म भरवाना शुरू कर दिया है। इसके दिशा-निर्देश जिला शिक्षा विभाग से प्राचार्यों तक पहुंचाए गए हैं परंतु बोर्ड परीक्षा होगी कि नहीं इस पर मंडल ने अभी कुछ भी साफ नहीं किया है। अगर परीक्षा होती भी है तो कितना कोर्स परीक्षा में पूछा जाएगा, ये भी स्पष्ट नहीं है।

वर्जन..

आनलाइन संसाधनों के कारण पढ़ाई प्रभावित हुई है। छह माही और वार्षिक परीक्षाओं को लेकर उच्च अधिकारियों से मार्गदर्शन मांगा गया है। उसी के आधार पर निर्णय होगा।

सुनील कुमार नेमा जिला शिक्षा अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020