जबलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। संस्कारधानी के प्रसिद्घ प्रतिष्ठान कोठारी ज्वेलर्स, सदर के डायरेक्टर आशीष कोठारी का कहना है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद से गोल्ड की खरीदी में जबरदस्त उछाल आया है। इससे वे खासे उत्साहित हुए और त्योहारी व शादी सीजन में अपने ग्राहकों के लिए प्री-बुकिंग ऑफर की सौगात लेकर आए हैं।

उन्होंने बताया कि प्री-बुकिंग ऑफर की खासियत यह है कि त्योहारी व शादी सीजन ग्राहकों से बुकिंग व डिलीवरी के समय वह भाव लिया जाएगा, जो कि कम होगा। इसे इस तरह समझा जा सकता है कि बुकिंग के समय भाव 50 हजार रुपये था और डिलीवरी के समय 60 हजार रुपये, तो कोठारी ज्वेलर्स कम दाम यानी सिर्फ 50 हजार रुपये लेगा। इस तरह ग्राहक को सिर्फ फायदा होगा, बुकिंग और डिलीवरी के बीच भाव में आए अंतर से ग्राहक को कोई नुकसान होने का सवाल ही खड़ा नहीं होगा। कोठारी ज्वेलर्स और ग्राहकों के बीच रिश्तों को और मजबूत बनाने की दिशा में उठाया गया यह कदम मील का पत्थर साबित होगा।

कोविड-19 ने सिखाया अच्छा या बुरा समय बोलकर नहीं आताः

अपने व्यवसाय की अच्छी समझ रखने वाले आशीष कोठारी ने बेहतर और सुलझी हुई सोच-समझ का परिचय देते हुए कहा कि वाकई कोविड-19 ने हम सबको सिखा दिया कि अच्छा या बुरा समय कभी बोलकर नहीं आता। यह सब तो एकदम से होता है, बिल्कुल किसी सदमे या अचानक मिली बड़ी खुशी की तरह। जाहिर सी बात है कि कोरोना लॉकडाउन भी हम सभी की जिंदगी में एक झटके की तरह आया और कुछ दिनों के लिए जीवन और व्यापार में ठहराव सा ला दिया। रोज कमाने खाने वाले श्रमिकों और मासिक नौकरीपेशा से लेकर सालाना टर्नओवर काउंट करने वाले व्यापारी वर्ग तक सभी स्तब्ध से रह गए थे।

सदियों पुरानी विश्वास की परंपरा को कायम रखाः

आशीष कोठारी प्रसन्नता के साथ बताते हैं कि कुछ समय के अंतराल के बाद जैसे ही लॉकडाउन खत्म हुआ सिर्फ गोल्ड ने सदियों पुरानी विश्वास की परंपरा को कायम रखा। मार्च से मई तक के ठहराव को दरकिनार करके हुए जून से अब तक गोल्ड ने ठीक वैसे ही उछाल भरनी शुरू कर दी, जैसी उछाल ऑटोमोबाइल्स की दुनिया में देखने को मिल रही है। पिछले दिनों मितव्ययता यानी कम खर्च में गुजारा व फिजूलखर्ची पर अंकुश लगने की अच्छी आदत का नतीजा बचत के रूप में सामने आया। इस स्थिति में जब निवेश का मन हुआ, तो अनुभवी ग्राहकों का रुझान गोल्ड खरीदने की तरफ तेजी से बढ़ा नजर आने लगा। अपनी मेहनत की कमाई को सुरक्षित करने का इससे बेहतर कोई दूसरा तरीका न होने की वजह से दिन-ब-दिन इसमें इजाफा देखने को मिल रहा है।

दूसरे खर्चों में हुई कटौती ने गोल्ड खरीदी का माहौल बनाया

कोविड- 19 से पहले खर्चीले शादी-समारोहों में जो दूसरे खर्च होते थे, कोरोना गाइडलाइन के कारण उनमें हर हाल में कटौती करनी ही पड़ेगी। इसी सोच-समझ के साथ माता-पिता ने अपनी बिटिया को अधिक से अधिक गहनों से लादकर विदा करने और सास-ससुर ने अपनी बहू का स्वागत अधिक से अधिक गहनों के उपहार से करने का मन पक्का कर लिया है। लिहाजा, कोठारी ज्वेलर्स के व्यवसाय में इन दिनों आई चमक आने वाले नवंबर से जनवरी तक के पीरियड में और अधिक दमक के साथ निखर कर सामने आने की आशा आसमान छू रही है। सबसे खास बात यह कि गोल्ड की तरफ जहां पहले शहर से बाहर के ग्राहक अधिक आकर्षित हुआ करते थे, वहीं अब शहरी क्षेत्र के प्रत्येक आयुवर्ग के ग्राहकों की भीड़ नजर आने लगी है। ये संकते बहुत अच्छे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020