गोसलपुर(नईदुनिया न्यूज)। तहसील कार्यालय सिहोरा और मझौली में हजारों किसान नई ऋण पुस्तिका पाने के लिए तहसील कार्यालय से लेकर हल्का पटवारियों के चक्कर काट रहे हैं। लेकिन पटवारी कोरोनाकाल के चलते भोपाल से नई ऋण पुस्तिकाएं नहीं आने का कारण बताकर किसानों को भटका रहे हैं।

किसानों को नामांतरण, बटवारा, फौती प्रक्रिया पूरी होने के बाद नई ऋण पुस्तिकाएं बना कर दी जाती हैं। किसानों को शासन की योजनाओं का लाभ पाने के लिए व अन्य राजस्व मामलों में नई ऋण पुस्तिकाओं की जरूरत होती है। लेकिन पिछले छह माह से तहसील कार्यालयों में ऋण पुस्तिकाओं की बेहद कमी है। जिससे किसानों को बेहद परेशानी हो रही है। ऋण पुस्तिका नहीं बनने के कारण लोगों को खाद बीज एवं नए केसीसी जैसे काम नहीं हो रहे हैं।

इस संबंध में तहसील कार्यालय द्वारा लगातार मांग पत्र जिला कार्यालय भेजे जा रहे हैं। तहसील कार्यालय सिहोरा से पांच हजार ऋण पुस्तिकाओं का मांग पत्र भेजा गया था, जिसमें मात्र ढाई सौ ऋण पुस्तिका मिलीं हैं। इन ऋण पुस्तिकाओं को लोकसेवा केंद्र से पारित आदेश वाले संबंधित किसानों को दे दी गई हैं। बाकी किसान भटक रहे हैं। सिहोरा तहसील एवं मझौली तहसील के हजारों किसान ऋण पुस्तिका पाने का इंतजार कर रहे हैं। किसान सुखचैन चौरसिया, राकेश चौरसिया, गोकुल यादव, मथुरा यादव ने कलेक्टर से ऋण पुस्तिका दिलाने की मांग की है।

ये रुके है कामः

किसानों ने बताया की ऋण पुस्तिका नहीं मिलने से बैंकों से नए केसीसी नहीं बन पा रहे हैं। अभी हाल ही में समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए धान के रजिस्ट्रेशन भी अनेक किसानों के नहीं हो पाए। रजिस्ट्रार कार्यालय में ऋण पुस्तिका नहीं होने के कारण रजिस्ट्री भी नहीं हो पाती।

किसान कर रहे सीएम हेल्पलाइन में शिकायतः किसानों को कई महीने से ऋण पुस्तिका नहीं मिल पाने के कारण आक्रोशित किसानों ने सीएम हेल्पलाइन व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत की जा रही है। फिर भी स्थिति ज्यों की त्यों ही बनी है। वहीं दूसरी ओर अनेक किसानों द्वारा ऋण पुस्तिका की दूसरी प्रति नई ऋण पुस्तिका पाने के लिए लोक सेवा केंद्र में आवेदन दिए गए हैं। जिसकी समय सीमा लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत एक माह निश्चित की गई है।

..............

पिछले कई महीनों से नई ऋण पुस्तिका भोपाल से प्राप्त नहीं हो रही हैं। जिसके चलते यह समस्या उत्पन्न हुई है। शासन स्तर पर लगातार पत्राचार किया जा रहा है। लोकसेवा केंद्र से ऋण पुस्तिका मांग के पारित आदेशों पर ऋण पुस्तिका प्रदान करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

ललित ग्वालवंशी, अधीक्षक भू-अभिलेख जबलपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020