जबलपुर। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के पूर्व निर्देश के पालन में नगर निगम, जबलपुर की ओर से अपना जवाब पेश किया गया। इसमें साफ किया गया कि नर्मदा किनारे 300 मीटर के प्रतिबंधित दायरे में अवैध निर्माण को लेकर सख्ती बरती जा रही है। इसी सिलसिले में तिलवाराघाट में नर्मदा मिशन को गोशाला के लिए आवंटित जमीन मिशन के कब्जे से वापस ले ली गई है। गोशाला का संचालन अब नगर निगम खुद कर रही है।

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय यादव व जस्टिस राजीव कुमार दुबे की युगलपीठ ने नगर निगम के उक्त जवाब को रिकार्ड पर ले लिया। इसी के साथ मामले की अगली सुनवाई 23 नवंबर को निर्धारित कर दी गई।

नर्मदा मिशन जबलपुर के नीलेश रावल व समर्थ गो चिकित्सा केंद्र के शिव यादव की ओर से यह जनहित याचिका दायर कर जबलपुर के तिलवाराघाट में हो रहे अवैध निर्माण होने का दावा कर इन्हें हटाने का आग्रह किया गया। इन निर्माणों को नर्मदा के ईको-जोन के लिए घातक बताया गया।

राजनीतिक हस्तक्षेप न हो :

विगत सुनवाइयों में कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि प्रदेश स्तर पर नर्मदा किनारे हाईफ्लड लेवल के 300 मीटर के दायरे में हुए सभी निर्माण चि-ति किए जाएं। जिला प्रशासन, ग्राम पंचायत व अन्य स्थानीय निकायों के अंतर्गत हुए इन अवैध निर्माणों को हटाए जाने के लिए गाइडलाइन बनाकर विधिवत सर्कुलर जारी किया जाए। कोर्ट ने कहा था कि इन अवैध निर्माणों को हटाने में किसी भी तरह का राजनीतिक हस्तक्षेप का प्रभाव नहीं होना चाहिए।

खुद गई थी बेंच :

इसी सिलसिले में तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश अजय कुमार मित्तल व जस्टिस शुक्ला ने 15 फरवरी 2020 को स्वयं तिलवारा घाट जाकर स्थल निरीक्षण किया था।

डिप्लोमाधारी किया तैनात :

विगत 24 सितंबर को कोर्ट ने नगर निगम से याचिकाकर्ता नर्मदा मिशन को तिलवारा में गोशाला के लिए आवंटित जमीन के संबंध में सवाल किए थे। मंगलवार को नगर निगम की ओर से अधिवक्ता अर्पण जे पवार ने जवाब प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि नर्मदा मिशन के कब्जे से उक्त गोशाला की जमीन वापस ले ली गई है। गोशाला के संचालन के लिए पशु चिकित्सा विज्ञान में डिप्लोमाधारी को रखा गया है। कोर्ट ने जवाब को रिकार्ड पर लेने के निर्देश जारी कर सुनवाई स्थगित कर दी। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता सौरभ तिवारी, सरकार की ओर से उपमहाधिवक्ता आशीष आनंद बर्नाड व दयोदय ट्रस्ट का पक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता रविनंदन सिंह व विपुलवर्धन जैन ने रखा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस