जबलपुर। मदनमहल थाना क्षेत्र स्थित घर से 20 फरवरी को लापता हुई बालिका प्रयागराज के नैनी में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हो गई। दो युवकों ने उसे एक खेत में बनी झोपड़ी में रखा और तीन दिन तक सामूहिक दुष्कर्म किया। बाद में उसे नैनी रेलवे स्टेशन तक छोड़कर भाग गए। सीएसपी दीपक मिश्रा द्वारा गठित मदनमहल की पुलिस टीम ने दोनों आरोपितों को नैनी जाकर गिरफ्तार कर लिया है।

टीआई संदीप अयाची ने बताया कि 14 वर्षीय नाबालिग 20 फरवरी को घर से लापता हो गई थी। अपहरण का मामला दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही थी। 4 दिन बाद नाबालिग घर लौट आई। उसने परिजन को बताया कि नैनी निवासी दो युवकों ने बंधक बनाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया है। प्रकरण दर्ज कर आरोपितों की तलाश की जा रही थी। जिन्हें पकड़ लिया गया। न्यायालय के आदेश पर दोनों को जेल भेजा गया है।

ननिहाल में हुई थी पहचान

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि प्रयागराज में उसकी नानी का घर है। कुछ समय पूर्व वह वहां गई थी। जहां चांदपुर सलोरी निवासी सौरभ उर्फ नन्हा से उसकी जान-पहचान हो गई। तब से दोनों आपस में मोबाइल पर बातें करने लगे। उसी के बहकावे में आकर नाबालिग पिता का एटीएम चुराकर उससे मिलने नैनी जा पहुंची। सौरभ उसे एक्टिवा गाड़ी से खेत में बनी झोपड़ी में ले गया। जहां ममेरे भाई सौरभ भारतीया के साथ मिलकर सामूहिक दुष्कर्म किया। उसके बाद नैनी स्टेशन छोड़कर आरोपित भाग गए। बालिका ट्रेन से जबलपुर पहुंची, जिसे पुलिस ने परिजन को सौंपा।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket