जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि। Jabalpur News अफसर बनने का सपना संजोकर सिवनी से जबलपुर आई युवती सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हो गई। आर्थिक मदद के बहाने सायबर कैफे संचालक उसे अपने दोस्त के घर ले गया। वहां डरा-धमकाकर दोनों ने उसकी आबरू लूटी। रविवार रात मदन महल थाने पहुंची युवती की आपबीती सुनने के बाद पुलिस ने आरोपितों को दबोच लिया।

घटनास्थल चौथापुल क्षेत्र में होने के कारण मदन महल पुलिस ने प्रकरण कैंट थाने को सौंप दिया। सिंगपुर बनखेड़ी होशंगाबाद निवासी दोनों आरोपित दीपक शर्मा एवं मनीष राय को गिरफ्तार कर धारा प्रकरण दर्ज किया गया है।

कैंट थाना प्रभारी विजय तिवारी ने बताया कि 21 वर्षीय युवती शहर स्थित एक महाविद्यालय में अध्ययनरत है। वह यूपीएससी की तैयारी कर वह अफसर बनना चाहती है। होशंगाबाद निवासी दीपक शर्मा राइट टाउन में सायबर कैफे चलाता है। उससे कुछ साल पहले छात्रा की जान पहचान हुई थी। उसे वह भाई मानने लगी। कुछ माह पूर्व 5 हजार रुपए की आवश्यकता होने पर छात्रा ने मुंहबोले भाई दीपक से सहायता मांगी तो अपनी पत्नी से मिलवाने के बहाने वह उसे दोस्त के घर ले गया।

जबरदस्ती कर मोबाइल पर बनाया वीडियो

थाना प्रभारी तिवारी ने बताया कि दीपक शर्मा युवती को निजी वाहन में बैठाकर चौथापुल स्थित होशंगाबाद निवासी दूसरे आरोपित मनीष राय के किराए के मकान में ले गया। धमकी देकर उसने छात्रा के साथ दुष्कर्म किया और अश्लील वीडियो बना लिया। कुछ देर बाद वहां मनीष राय पहुंचा तो अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दीपक ने उसके साथ भी शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर कर दिया। किसी को कुछ बताने पर आरोपितों ने छात्रा की छोटी बहन को उठाने व अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी दी।

गांव से लौटते ही फोन आया

आरोपितों की धमकी से डरी छात्रा अपने गांव चली गई। कुछ दिन रुकने के बाद जबलपुर आई। 15 फरवरी को मनीष शर्मा ने फोन कर उसे वीडियो वायरल करने की धमकी दी, जिससे बचने के लिए छात्रा उसके साथ चौथापुल स्थित मनीष राय के घर चली गई, जहां दीपक ने डरा धमकाकर दुष्कर्म किया। छात्रा ने 16 फरवरी की रात मदन महल थाना पहुंचकर पुलिस को घटना की जानकारी दी। मदन महल थाना प्रभारी संदीप अयाची ने चंद्रिका अपार्टमेंट मदन महल से दीपक शर्मा व मनीष राय को गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Nai Dunia News Network