जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रिज बाजार को रानी दुर्गावती विद्यालय मार्ग से जोड़ने को लेकर की जा रही मांग सालों से पूरी नहीं हो रही है। इसको लेकर सैन्य प्रशासन की टीम द्वारा आठ माह पहले सर्वे किया गया था। सर्वे के बाद सड़क बनाने का प्रस्ताव तो बना लेकिन सड़क आज तक नहीं बन पाई। इससे क्षेत्रीय लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

सैन्य क्षेत्र रिज बाजार बस्ती को रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय मार्ग से जोड़ने वाली सड़क सैन्य प्रशासन ही बनाएगा। कैंट बोर्ड की बैठक में यह प्रस्ताव जनप्रतिनिधियों की रुचि के कारण स्वीकृत हुआ। इसके बाद सैन्य प्रशासन की टीम रिज बाजार-विश्वविद्यालय सड़क का सर्वे करने गई, लेकिन इसे बनाया नहीं गया। नतीजा रिज बाजार बस्ती के परिवार आज भी यह नई सड़क बनने का इंतजार कर रहे हैं।

विदित हो कि कोरोना संक्रमण के चलते जून माह में कैंट सीईओ सुब्रत पाल को ज्ञापन देकर कैंट बोर्ड उपाध्यक्ष ने रिज बाजार को विश्वविद्यालय मार्ग से जोड़ने नई सड़क बनाने की मांग रखी थी। साथ ही कहा था कि वार्ड नं.7 के रिज बाजार को करीब सौ साल पुरानी सड़क का नवनिर्माण करके सीधे विश्वविद्यालय मार्ग से जोड़ा जा सकता है। विदित हो कि रिज बाजार बस्ती के 5 सौ से ज्यादा परिवार के सदस्य आर्मी क्षेत्र सीएमएम से आवाजाही करने में परेशान होते हैं। बस्ती के लोगों को सीएमएम गेट बंद होने या यहां तैनात आर्मी के जवान को हर बार पहचान पत्र, आधार कार्ड आदि दिखाकर ही आने-जाने मिलता है। इसलिए रिज बाजार बस्ती की सड़क बनाने की मांग की जा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags