जबलपुर, नईदुनिया रिपोर्टर। बात चाहे कोरोना की शुरुआत की हो या फिर कोरोना की दूसरी लहर की। एनएसएस के स्वयंसेवियों ने लगातार अपनी परवाह न करते हुए लोगों को जागरूक करने का कार्य किया है। कोरोना के दौरान बैंक में पहुंचने वाले लोगों को जागरूक करने से लेकर उनकी मदद करने में भी स्वयंसेवी आगे रहे। उसके बाद शहर में जगह-जगह घूम कर नुक्कड़ नाटक के जरिए लोगों को शारीरिक दूरी, मास्क लगाने का महत्व समझाया। सिर्फ यही नहीं कोरोना की दूसरी लहर में गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक किया।

आसपास के इलाकों में सेवा कार्य जारी रखा : मुक्त इकाई कार्यक्रम अधिकारी डॉ. देवांशु गौतम ने बताया कि एनएसएस के स्वयंसेवियों ने इस दौरान अपने घरों पर रहते हुए भी आसपास के इलाकों में सेवा कार्य जारी रखा। इस सेवा कार्य में लोगों को घर-घर जाकर बताया गया कि वे टीकाकरण करवाएं और मास्क लगाएं। इस दौरान स्वयंसेवकों को काफी परेशानी का सामना भी करना पड़ा। कुछ स्थानों पर तो लोगों के बीच बिल्कुल ही जागरूकता का अभाव देखा गया। इन सारी बातों के साथ ही अब रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की एनएसएस इकाई द्वारा विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस पर बच्चों के लिए काम किया जाएगा। डॉ. देवांशु गौतम ने बताया कि स्थापना दिवस पर विश्वविद्यालय द्वारा पूछा गया है कि आगामी वर्ष में क्या-क्या नया किया जाएगा। कोरोना की तीसरी लहर में क्योंकि बच्चों को खतरा बताया जा रहा है इसलिए अब एनएसएस के स्वयंसेवी बच्चों की स्थितियों पर काम करेंगे। बच्चों को किस तरह सक्रिय रखा जाए। उनके अंदर आ रहे अवसाद व तनाव को दूर किया जाए। साथ ही बच्चों के लगातार घर पर रहने से उनमें क्या-क्या परेशानियां आ रही हैं इस पर भी बात की जाएगी। इन विषयों पर वेबिनार के माध्यम से चर्चा होगी और हल निकालने का प्रयास किया जाएगा।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags