जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट व जिला बार चुनाव की अधिसूचना जारी हुई नहीं और संभावित प्रत्याशी पूरा जोर लगाने में जुट गए हैं। सरगर्मी इस कदर उफान पर है कि अभी मतदाता सूची फाइनल तक नहीं हुई और एक-एक वकील को टच किया जा रहा है। उसे अपने हक में वोट करने मोटिवेट किया जा रहा है। साथी वकील इस कार्य में पूरा साथ दे रहे हैं।

घोषणाओं की झड़ी लगाई : उल्लेखनीय है कि स्टेट बार कौंसिल के निर्देश के बाद से हाई कोर्ट व जिला बार चुनाव की सरगर्मी बढ़ गई है। संभावित प्रत्याशी इंटरनेट मीडिया पर सक्रिय हो गए हैं। मतदाताओं को लुभाने के लिए तरह-तरह से प्रभावित किया जा रहा है। घोषणाओं की झड़ी लगा दी गई है। कोविड काल में हुई परेशानी दूर करने का वादा किया जा रहा है। सभी पदों पर उम्मीदवारों की संख्या इस बार सर्वाधिक होने के आसार बन रहे हैं। कई मित्र एक ही पद पर खड़े होने तैयार हैं। ऐसे में कटुता भी बढ़ रही है। एक-दूसरे को समझाकर बैठने का निवेदन किया जा रहा है। पहले से वादे याद दिलाए जा रहे हैं। लेकिन जो एक बार इरादा कर चुका, वह बैठने तैयार नहीं है। चुनाव को प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लिया गया है। अध्यक्ष पद को लेकर हाई कोर्ट बार में बड़े नाम फिर चर्चा में हैं। पूर्व अध्यक्ष रमन पटेल फिर जोर-आजमाइश के मूड में हैं। वहीं पूर्व अध्यक्ष रह चुके आदर्शमुनि त्रिवेदी भी मैदान में आने तैयार हैं। ऐसे में पूर्व अध्यक्ष अनिल खरे की ओर से से भी चुनाव का मन बना लिया गया है। नए प्रत्याशी मनीष तिवारी अब सचिव पद नहीं अध्यक्ष पद के आकांक्षी हैं। जिला बार में भी पूर्व अध्यक्ष सुधीर नायक रिपीट करना चाहते हैं। लेकिन आरके सिंह सैनी फिर से मैदान में आने कमर कस चुके हैं। ऐसे में मुकाबला टक्कर का बनने के पूरे आसार हैं। वकीलों के बीच सुबह से शाम तक यही मुद्दा छाया रहता है। कोविड की निराशा चुनावी चर्चा के कारण दूर हो रही है। चारों तरफ चुनाव का ही माहौल है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local