जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। एंटी माफिया अभियान में प्रशासन और कड़ाई करने की तैयारी में है। अब उन कॉलोनाइजरों को राडार पर लिया जा रहा है जो अवैध रूप से कॉलोनियों के निर्माण में जुटे हैं। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने ऐसे कॉलोनाइजर्स के खिलाफ पुलिस थाने में एफआइआर दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने भू माफिया के विरुद्ध व्यापक पैमाने पर जारी कार्रवाई के बीच अवैध कॉलोनियां बना रहे कई कालोनाइजर्स के खिलाफ सख्त रुख अपनाया है। ऐसे कॉलोनाइजर्स ने भूमि को भू-खंडों में विभाजित कर बिक्री कर दी। उसके बाद नामांतरण एवं बंटवारा की कार्रवाई नहीं की। एसडीएम नम: शिवाय अरजरिया ने बताया कि बरगी ग्राम में दो तथा धनपुरी में एक प्रकरण में पंचायती राज अधिनियम की धारा 61 घ के तहत कार्रवाई की गई है। इन तीनों प्रकरणों में कालोनाईजर द्वारा रजिस्ट्रीकरण प्रमाण-पत्र, नगर तथा ग्राम निवेश द्वारा स्वीकृत अभिन्यास डायवर्सन आदेश और विकास अनुज्ञा के बगैर जमीनों को भू-खंडों में विभाजित कर विक्रय किया गया है। बरगी निवासी संजू रजक और मुकेश रजक ने 2.2 हेक्टेयर भूमि को भू-खंडों में विभाजित कर बिक्री कर दी। एक अन्य प्रकरण में नेपियर टाउन निवासी अनूप जैन ने ग्राम बरगी में भू-खंडों को विभाजित कर बेंच दी। ग्राम धनपुरी निवासी सरस केशरवानी, संजय केशरवानी, दिलीप केशरवानी और राजकुमार गुप्ता ने भी ऐसा ही कारनामा किया। उन्होंने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर ऐसे तमाम कॉलोनाइजर्स को सूचीबद्ध किया जा रहा है, जिन्होंने अवैध कॉलोनियां निर्मित की हैं। इधर, शहर स्थित तमाम अवैध कॉलोनियों में लाखों रुपये खर्च कर प्लाट खरीदने मकान बनाने वाले लोग खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।

Posted By: Ravindra Suhane

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस