जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। वाराणसी से वड़ोदरा जा रही 20904 महामना सुपरफास्ट एक्सप्रेस के यात्री 8 घंटे पानी को तरस गए। ट्रेन के ए-1 और बी-2 कोच में पानी नहीं होने से यात्रियों के लिए समस्या खड़ी हो गई। बनारस से चली गाड़ी में यात्रियों को जब इलाहाबाद तक पानी की व्यवस्था नहीं हुई तो उन्होने कोच अटेंडर से लेकर रेलवे के मोबा्‌इल एप में भी शिकायत दर्ज कराई लेकिन उन्हें पानी नसीब नहीं हुआ। छिवकी, सतना में भी जब उनकी नहीं सुनी गई तो जबलपुर पहुंचकर यात्रियों ने हंगामा कर दिया। जबलपुर रेलवे स्टेशन में शाम लगभग सवा 5 बजे यात्रियों ने हंगामा करते हुए ट्रेन को आगे नहीं बढ़ने दिया जिसके बाद रेलवे के अधिकारियों ने कर्मचारियों को पहुंचाकर पानी भरवाया लेकिन समस्या कोच के अंदर बने टैंक में थी जिसके कारण पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही थी। यात्रियों को इटारसी में सुधार कार्य कराने का आश्वासन दिया गया और ट्रेन रवाना कराई गई।

कोई सुनवाई नहीं

यात्री ललित दुबे का कहना था कि 'हमारी न तो इलाहाबाद स्टेशन में सुुनी गई न ही छिवकी और न सतना में। हमने कई बार शिकायतें की। आठ घंटे से केवल शिकायतें ही करते आ रहे हैं लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। जबलपुर में एक आस बनी लेकिन यहां भी अधिकारियों ने इटारसी में सुधार कार्य होने का आश्वासन दिया है'। जानकारी अनुुसार ट्रेन के इटारसी पहुंचने पर कुछ सुधार कार्य कराया गया जिससे ट्रेन में पानी की सप्लाई हो पाई। इस दौरान 8 से लेकर 10 घंटे तक यात्री पानी को तरसते रहे।

आठ घंटे से केवल शिकायत कर रहे हैं। इलाहाबाद स्टेशन में भी अनाउंसमेंट हुआ था कि ट्रेन में पानी की व्यवस्था की जाए लेकिन जबलपुर तक समाधान नहीं हो पाया है। रेलवे की यह बहुत खराब व्यवस्था है।-ललित दुबे, पीड़ित यात्री

Posted By: Nai Dunia News Network