जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में कोरोना के बढ़ते मामलों का असर रेलवे पर भी पड़ने लगा है। यात्रियों से जुड़ी सुविधाओं और जानकारी देने वाले रेल कर्मचारी इन दिनों के लिए कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं। हालात यह है कि जबलपुर रेल मंडल के पास मुख्य रेलवे स्टेशन से लेकर ट्रेनों की जानकारी देने वाले नियंत्रण कक्ष तक में काम करने के लिए कर्मचारियों की कमी आ गई है।

काम करने से पीछे हट रहे : दूसरी ओर स्टेशन और कंट्रोल रूम में लगातार संक्रमित होते कर्मचारियों की वजह से लोग यहां काम करने से पीछे हट गए हैं, जिस वजह से रेलवे स्टेशन पर जानकारी और संक्रमण को रोकने के लिए जबलपुर रेल मंडल के कमर्शियल विभाग को पोस्टर का सहारा लेना पड़ रहा है। पोस्टरों के माध्यम से लोगों को न सिर्फ जागरूक कर रहा है बल्कि मास्क पहनने के लिए भी प्रेरित कर रहा है।

परिवार के सदस्‍य भी संक्रमित :

जबलपुर रेलवे स्टेशन में लोगों की बढ़ती भीड़ का असर यह है कि यहां पर तैनात टिकट चेकिंग स्टाफ काउंटर पर बैठने वाले कर्मचारी और आरपीएफ-जीआरपी के जवान मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग करने के बाद भी संक्रमित हो रहे हैं यही हालात जबलपुर रेल मंडल के कार्यालय में भी है। ई अधिकारी और उनके परिवार भी इस वक्त कोरोना संक्रमण से ग्रसित हैं।

परेशानी बढ़ना तय : रेलवे के मुताबिक 30 से 40 फीसदी कर्मचारी इस वक्त कोरोना से संक्रमित हो गए हैं। हालात यह है कि 70 से 60 फीसदी कर्मचारियों से ही काम कराना पड़ रहा है। इनमें से भी कई अवकाश पर हैं तो कई अन्य बीमारियों से ग्रसित है। यही हालात रहे तो रेलवे, ट्रेनों की सुविधाओं को भी कम कर सकता है, इससे यात्रियों की परेशानी बढ़ना तय है।

Posted By: Brajesh Shukla

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags