जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सेना में महिलाओं की भागिदारी बढ़ाने के उद्देश्य से पहली बार जबलपुर में महिला जवानों के लिए भर्ती प्रक्रिया मंगलवार से शुरू हो गई। इसमें देश भक्ति और राष्ट्रसेवा की उमंग और जोश के साथ महिलाओं ने शारीरिक दक्षता परीक्षा में हिस्सा लिया। दो दिन चलने वाले पहले चक्र के लिए मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, गुजरात, गोवा के साथ-साथ तीन केन्द्र शासित प्रदेश की 1700 महिला उम्मीदवारों का पंजीयन किया गया है।

भारतीय सेना में यह पहली बार है कि जब महिला जवानों की भर्ती की जा रही है। यहां अब तक केवल अफसर पदों पर ही महिलाएं थीं। जम्मू एंड कश्मीर रेजिमेंट के मैदान में हो रही भर्ती के लिए सेना के 150 से ज्यादा अधिकारी कर्मचारियों सहित, जिला प्रशासन, नगर निगम और पुलिस का बल भी मुस्तैद रहा।

700 में से आईं 198 महिलाएं

भर्ती अधिकारी कर्नल पी चक्रवर्ती के अनुसार जम्मू एंड कश्मीर रेजिमेंट सेंटर्स के मैदान में मंगलवार सुबह 7 बजे से महिला अभ्यर्थियों की शारीरिक दक्षता परीक्षा शुरू की गई। पहले दिन के लिए 7 सौ पंजीयन में से 198 महिला अभ्यर्थी शामिल हुईं।

सर्वप्रथम सीओएस मेजर जनरल एसएस कालो द्वारा ध्वज दिखाकर पहले राउंड की भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई। इसके पहले अभ्यर्थियों के दस्तावेज की जांच के बाद 8.30 से 1.6 किलोमीटर की दौड़ शुरू हुई जिसमें महिलाओं ने अपना दमखम दिखाया। इसी तरह 10 फीट की लम्बी छलांग, 3 फीट की ऊंची छलांग के साथ प्री मेडिकल टेस्ट हुआ। सभी प्रक्रिया के बाद 34 अभ्यर्थी का चयन किया गया।

आज एक हजार महिलाओं की भर्ती रैली

आज को देश के पांच राज्यों सहित केन्द्र शासित प्रदेश की महिला अभ्यर्थियों की भर्ती रैली प्रातः 7 बजे से आयोजित की जाएगी। इसके बाद सभी चयनित अभ्यर्थियों का 19-20 सितंबर को मिलिट्री अस्पताल में मेडिकल परीक्षण किया जाएगा। इसके बाद इन्हे 26-27 सितंबर को राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली लिखित परीक्षा में शामिल होना पड़ेगा। ये सभी महिलाएं सेना में जवान बनकर सेना पुलिस में सेवाएं देंगी।

VIDEO : सतना जिले में धतूरा की टमस नदी में डूबते-डूबते बचे दो बच्चे

Madhya Pradesh Weather Update : महाकोशल-विंध्य के कई इलाकों में बारिश जारी