जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विशवविद्यालय के कुलपति डा. सीता प्रसाद तिवारी, संयुक्त संचालक डा. पीएस पटेल व उप संचालक पशु पालन व डेयरी विभाग डा. सुनील बाजपेयी ने नर्मदा मिन खनिज मिश्रण इकाई का निरीक्षण व अवलोकन किया।

इस दौरान कुलपति डा. तिवारी ने विशिष्ट अतिथियों को संचालित हो रही इकाई की गतिविधियों की जानकारी की और तकनीकी से अवगत कराया। साथ ही बताया कि मप्र के विभिन्न कृषि जलवायु क्षेत्रों की मृदा, चरी-चारा व पशुओं के आहार में प्रयुक्त होने वाले खाद्य अवयवों में उपस्थित प्रमुख खनिज तत्वों को आकलन कर इस मिश्रण का निर्माण विश्वविद्यालय के पशु पोषण विभाग में किया गया है। विभिन्न पशुओं को इस मिश्रण को खिलाकर परीक्षण भी किए गए हैं। अनुसंधानों के बाद बने इस मिश्रण को खिलाने के बाद पशुओं की दुग्ध उत्पादन क्षमता, गुणवत्ता, प्रजनन क्षमता और रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार देखे गए हैं।

नर्मदा मिन मिश्रण सभी पशुओं गाय, भैंस, भेड़, बकरी व शूकर के लिए लाभकारी होने के साथ ही कम कीमत में उपलब्ध है। नर्मदा मिर मिश्रण को पशुपालन विभाग के अंतर्गत विभिन्न डेयरी फार्म, बकरी फार्म, कुक्कुट फार्म में क्रय करने ही अनुशंसा करने व के साथ ही निर्देशित करने की बात कुलपति प्रो. तिवारी ने कही। जिससे नर्मदा मिन खनिज मिश्रण से पूरे प्रदेश के पशुपालक लभान्वित हो सकें।

इस अवसर पर विवि के संचालक विस्तार शिक्षा व प्रमुख अन्वेषक खनिज मिश्रण इकाई डा. सुनील नायक, नोडल अधिकारी भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद डा. एपी सिंह, सूचना व जनसंपर्क अधिकारी डा. अनिल कुमार गौर, प्रभारी विभागाध्यक्ष कुक्कुट पालन विभाग व इकाई डा. एसएस अतकरे व अन्य सदस्य मौजूद रहे।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local