जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आपदा प्रबंधन एवं राष्ट्र सेवा में राष्ट्रीय सेवा योजना हमेशा आगे रहे हैं। राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवकों ने हर आपदा में सेवा कार्य किया। उन्होंने सेवा कार्य में बेहतर प्रबंधन करते हुए सभी की मदद की। यह बात महाराष्ट्र इंस्टीट्यूट आफ हायर एजुकेशन जबलपुर में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्थापना दिवस पर जिला संगठक डा. आनंद सिंह राणा ने व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. जयंत कुमार तनखीवाले ने की। उन्होंने एनएसएस के कार्यों की सराहना की।

पौधे हमारी प्राण वायु : महाविद्यालय के प्राचार्य डा. दिलीप सिंह हजारी ने अतिथियों के साथ पौधारोपण किया। उन्होंने वृक्षों के महत्व को समझाया और कहा कि जिस तरह हमें आज पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है ठीक उसी तरह एक समय आक्सीजन के लिए होना होगा। हमारी प्राण वायु आक्सीजन हमें पौधों से ही मिलती है। यह नहीं होंगे तो आक्सीजन ही नहीं होगी और तो और कोरोना काल के दौरान आक्सीजन को लेकर हुई परेशानी से हर कोई वाकिफ है। इस अवसर पर मौजूद अतिथियों ने कहा कि जितना हो सके पौधे लगाएं। यही हमारी प्राण वायु को देते हैं। इनके बिना जीवन चंद मिनट भी नहीं है। इस अवसर पर देववृक्ष आंवला के पौधों का रोपण किया गया। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय सेवा योजना छात्र ईकाई के कार्यक्रम अधिकारी प्रो.राजा तिवारी ने किया। आभार प्रदर्शन डा. नीलम दुबे ने किया। पोस्टर स्पर्धा में छात्र अंश उसरेठे ने प्रथम स्थान हासिल किया। भाषण स्पर्धा में संजना खंडालकर ने प्रथम स्थान हासिल किया। इस अवसर पर हुई विविध स्पर्धा में प्रतिभागियों ने भाग लेकर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local