जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि। ट्रेन में यात्रियों की टिकट जांच करने वाले चीफ टिकट इंस्पेक्टर (सीटीआइ) अपनी पसंदीदा ट्रेन में ड्यूटी न लगाने से इतने नाराज हुए कि उन्होंने ड्यूटी लगाने वाली सीटीआइ को मोबाइल लगाकर पहले तो नाराजगी बयां की और फिर जमकर गाली भी सुना दी।

मामला जबलपुर रेलवे स्टेशन के टिकट चेकिंग स्टॉफ का है। दरअसल पसंदीदा ट्रेन में ड्यूटी लगाने को लेकर आला अधिकारियों की पाबंदी भी काम नहीं आ रही है। ज्यादातर टिकट चेकिंग स्टॉफ अपनी पसंदीदा ट्रेन और रूट पर ड्यूटी लगाते हैं, लेकिन जब उनकी मन मुताबिक ड्यूटी नहीं लगती तो वह विवाद करने में भी पीछे नहीं हटते।

जबलपुर स्टेशन पर तैनात सीटीआई राजेश श्रीवास ने ड्यूटी को लेकर सीटीआई केसी शर्मा को मोबाइल पर जमकर अपशब्द कहे। सीटीआइ शर्मा ने इसकी शिकायत जबलपुर मंडल के वाणिज्यिक विभाग के आला अधिकारियों को की, जिसके बाद डीसीएम एसके श्रीवास्तव ने कॉल रिकॉर्डिंग सुनी और फिर उन्हें निलंबित कर दिया।

फिर गर्माया पसंदीदा ट्रेन में ड्यूटी लगाने का मामला: विभाग ने उन्हें अनाश्वयक अपशब्द कहने और शासकीय कार्य में बाधा डालने का दोषी पाया है। डीसीएम ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए घटना से जुड़े प्रमाणों को खंगाला, जिसे सीटीआइ शर्मा की शिकायत सही पाई गई। इस पर विभाग ने कार्रवाई करते हुए सीटीआइ को निलंबित कर दिया है। वहीं इस घटना से अब एक बार फिर पसंदीदा ट्रेन में ड्यूटी लगाने काम मामला गर्माया गया है। दरअसल सीनियर डीसीएम विश्वरंजन ने पूर्व में इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कर्मचारियों की रोटेशन में ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए थे, लेकिन इसमें फिर शिथिलता बरती जा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local