जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बाद रेलवे ने भी कोरोना गाइडलाइन का पालन न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। रेलवे, अभी तक स्टेशन पर मास्क न पहनने वालों पर ही जुर्माना लगाने की कार्रवाई कर रहा था। अब ट्रेन में सफर के दौरान मास्क न पहनने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

जबलपुर रेल मंडल ने ऐसे यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई करने बुधवार से ट्रेनों में जांच अभियान शुरू कर दिया है। पहले दिन जबलपुर से कटनी के बीच चलने वाली ट्रेनों की जांच की गई। इस दौरान मास्क न पहनने वाले 30 यात्रियों पर चालान की कार्रवाई की। इनमें 30 हजार रुपये का जुर्माना भी वसूला गया।

मास्क नहीं था तो साड़ी बांध ली: कमर्शियल विभाग के डीसीएम सुनील श्रीवास्तव ने जांच टीम के साथ जबलपुर से कटनी जा रही मेमो ट्रेन की जांच की। इस दौरान बिना टिकट से ज्यादा मास्क न पहनने वाले यात्री मिले। डीसीएम ने पहले तो सभी को मास्क पहनने की जरूरत को बताया। इसके बाद भी कई यात्रियों ने उनकी बात को नजरअंदाज कर दिया, जिसके बाद उनका चालान काटा गया। इस दौरान कई ऐसे यात्री थे, जिसके पास मास्क ही नहीं था। उन पर जब जांच अधिकारी ने चालान की कार्रवाई की तो उन्होंने आनन-फानन में रूमाल बांध लिया। इस दौरान बिना मास्क के सफर कर रहीं महिलाओं ने अपनी साड़ी के पल्लू को ही मास्क बना लिया।

टीटीई, टिकट और मास्क दोनों की करेंगे जांच: जबलपुर रेल मंडल की ट्रेनों में मास्क न पहनने वाले यात्रियों के खिलाफ जांच अभियान तेज कर दिया है। अब टीटीई, यात्री की टिकट के साथ यात्री मास्क पहनने हैं या नहीं, इसकी भी जांच करेंगे। इधर विभाग ने स्पेशल टिकट बनाकर सभी ट्रेनों में जांच शुरू कर दी है। रेलवे के मुताबिक मास्क न पहनने वालों पर अभी जुर्माना लगाया जा रहा है। इसके बाद चालान की शुल्क भी बढ़ाई जाएगी।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local