जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। यात्रियों को सुरक्षा और संदिग्धों पर निगरानी के लिए जबलपुर रेल मंडल के 18 स्टेशनों में रेलवे ने 45 आधुनिक क्लोज सर्किट कैमरे लगाने का निर्णय लिया है। कैमरे मंडल के 18 लोकेशनों में रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट पर लगाए जा रहे हैं। जिसमें अपराधी तत्व और संदिग्धों पर निगरानी रखने में आरपीएफ को मदद मिलेगी।

45 कैमरे लगाने का कार्य शुरू : इस संबंध में आरपीएफ कमांडेंट अरूण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मंडल में 18 लोकेशन पर 45 कैमरे लगाने का कार्य शुरू हो गया है। इन कैमरों में नाइट विजन है, जो उच्च गुणवत्ता के हैं। रात में भी यदि स्टेशन पर कोई संदिग्ध गतिविधि होती है, तो आरोपितों को कैमरे कैद कर लेगा और उसकी पहचान करना आसान होगा। वहीं जेबकतरे, महिलाओं से छेड़छाड़ जैसी घटनाएं में भी लगाम लगेगी। कैमरे आधुनिक हैं, जिसकी रिकार्डिंग में 15 दिनों तक का डाटा स्टोर किया जा सकता है। यदि कोई शिकायतकर्ता घटना होने के कुछ दिन बाद भी शिकायत करने आता है तो कैमरे की रिकार्डिंग से उसके साथ हुई घटना और आरोपितों को चिन्हित किया जा सकता है।

जबलपुर सहित अन्य स्टेशनों में अवांक्षित तत्व बिना टिकट यात्रियों अनाधिकृत, वेंडरों, हवाला के कारोबार की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे संदिग्धों की गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए रेल सुरक्षा बल हमेशा मुस्तैद रहता है अब रेलवे स्टेशनों पर कैमरे लग जाने से आरपीएफ को डिजिटली प्रूफ भी रखने में मदद मिलेगी उल्लेखनीय है कि मंडल के विभिन्न स्टेशनों पर पूर्व में भी अनेक सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। जिनके द्वारा प्लेटफार्म पर यात्रियों एवं अनुचित नियत से प्लेटफार्म में घुसने वालों की गतिविधियों को देख कर सुरक्षा बल कार्रवाई करता है।

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local