जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मुख्य रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए नया प्लेटफार्म बनाया गया। इसे बने लगभग दो साल से ज्यादा समय हो गया, लेकिन वर्तमान स्थिति यह है कि इस नए प्लेटफार्म पर आज न तो कोई ट्रेन आ और जा रही है और ना ही यात्री यहां नजर आते हैं। भीड़-भाड़ वाले दिनों में भी यह प्लेटफार्म सूना रहता है। दरअसल जबलपुर रेल मंडल ने लाखों रुपये खर्च कर मुख्य रेलवे स्टेशन को सातवां नया प्लेटफार्म वन ए बनाया, लेकिन स्टेशन पर इनकी क्या उपयोगिता होगी इसको लेकर जो योजना बनाई उस पर अब तक अमल ही नहीं हुआ। वहीं दूसरी और इस प्लेटफार्म की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि इसमें एक ओर से ही ट्रेन आ और जा सकती है, जिससे इसकी उपयोगिता अन्य प्लेटफार्म की तुलना से कम है।

बालाघाट पैसेंजर रवाना की, फिर बंद कर दी : नया प्लेटफार्म वन ए बनाने के बाद जबलपुर मंडल ने प्रारंभिक तौर पर यह तय किया कि जबलपुर से नई ब्राडगेज लाइन बालाघाट-गोदिंया बनने के बाद इसमें पैसेंजर ट्रेन को चलाया जाएगा। आठ से नौ कोच की नैनपुर पैसेंजर चलाई गई, लेकिन यह ट्रेन भी पिछले एक साल से बंद है, जिसके बाद इस प्लेटफार्म की उपयोगिता ही खत्म हो गई है। मंडल को यह समझ नहीं आ रहा कि आखिर इस प्लेटफार्म का उपयोग कैसे करें।

मेमू ट्रेन चलाने की थी योजना : जबलपुर मंडल के आला अधिकारियों ने इस प्लेटफार्म की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए यहां से मेमू ट्रेन चलाने की योजना बनाई, लेकिन ऐसा हुआ ही नहीं। रेलवे के मुताबिक मेमू ट्रेन में कम कोच होते हैं, जिस वजह से इस यहां से चलाना आसान होगा, लेकिन इस पर अमल ही नहीं हुआ। इस प्लेटफार्म से उन ट्रेनों को ही चलाया जा सकता है जो या तो इटारसी या फिर बालाघाट की ओर जाए और यहां आकर खत्म हो जाए।

स्टेशन रिमाडलिंग के तहत बनाया प्लेटफार्म : जबलपुर रेलवे स्टेशन पर यात्री सुविधा बढ़ाने के लिए रिडेवलपमेंट के तहत सुविधाओं में इजाफा किया जा रहा है। इससे पूर्व स्टेशन को तकनीकी रूप से बेहतर बनाने के लिए रिमॉडलिंग का काम किया गया, जिसमें जबलपुर स्टेशन में सिग्नल से लेकर प्वाइंट , आरआरआइ को आधुनिक किया गया। इस प्रोजेक्ट में ही नैरोगेज लाइन को हटाकर ब्राडगेज लाइन डालकर यहां नया प्लेटफार्म बनाया गया।

इन तकनीकी बिंदुओं को नहीं किया गया दूर :

- प्लेटफार्म पर एक ओर से ही यात्री ट्रेन में सवार हो सकता और उतर सकता है

- पश्चिम दिशा की ओर ही ट्रेन रवाना हो सकती हैं, पूर्व की ओर नहीं

- सिर्फ आठ कोच ट्रेन में होने पर ही इसे यहां से रवाना किया जा सकता है

- इस प्लेटफार्म पर आने के लिए यात्रियों को लंबी दूरी तय करनी होती है।

------------

नए प्लेटफार्म पर एक ओर ही ट्रेन आ जा सकती है। आठ कोच की ट्रेन को ही यहां खड़े कर सकते हैं। इन बातों को ध्यान में रखकर हमने नैनपुर पैसेंजर ट्रेन को यहां चलाना शुरू किया था, लेकिन अभी वह ट्रेन बंद है। फिलहाल यहां से मेमू ट्रेन चलाने की कोई योजना नहीं है।

- संजय विश्वास, डीआरएम, जबलपुर रेल मंडल

Posted By: Brajesh Shukla

NaiDunia Local
NaiDunia Local