जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंटरनेट की ताकत से हर कोई समझ गया है । रेलवे ने भी इस ताकत को समझते हुए अपने अधिकांश स्टेशन में वाई-फाई की सुविधा देना शुरू कर दिए है। मध्य प्रदेश के अधिकांश स्‍टेशनों में यह सुविधा दी जा रही है। जिनमें जबलपुर भी एक महत्वपूर्ण स्टेशन है।

रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई की सुविधा डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के उद्देश्यों को पूरा करती है। यह शहरी और ग्रामीण नागरिकों के बीच डिजिटल दूरी को खत्म करने का काम करेगा, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटलीकरण में बढ़ोतरी होने के साथ उपयोगकर्ता का अनुभव भी बढ़े।

रेलवे ने स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा की शुरुआत वर्ष 2016 में किया। रेलवे ने सभी क्षेत्रीय रेलों पर वाई-फाई सुविधा का विस्तार किया। पश्चिम मध्य रेल के जबलपुर,भोपाल एवं कोटा मंडल में सभी 272 रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराई। पश्चिम मध्य रेल 100 फीसदी रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराने में सर्वोच्च स्थान रहा है।

रेलवे के मध्य प्रदेश राज्य के अंतर्गत आने वाले 393 रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। रेलवे डिजिटल इंडिया पहल में लगातार योगदान दे रहा है और भारत के विभिन्न हिस्सों को वाई-फाई सुविधा के साथ जोड़ रहा है। रेलवे ने अब तक 6000 रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई की सुविधा उपलब्ध कराई गई।

रेलवे स्टेशनों पर स्व-सक्षमता के आधार पर वाई-फाई का प्रावधान करना, जिससे रेलवे पर कोई आर्थिक बोझ नहीं आता है। यह सुविधा रेल मंत्रालय के तहत एक पीएसयू रेलटेल की मदद से दी जा रही हैं।

यह कार्य गूगल, डीओटी (यूएसओएफ के तहत) , पीजीसीआईएल और टाटा ट्रस्ट के साथ साझेदारी में किया गया। भारतीय रेलवे यात्रियों और आम जनता को डिजिटल प्रणालियों के साथ जोड़ने के लिए दूरस्थ रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा का लगातार विस्तार कर रहा है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local