जबलपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। मानसून विदाई के निकट आने के साथ मौसम में बदलाव नजर आने लगे हैं। कभी हल्के बादल छा रहे हैं तो कभी मौसम साफ होकर सूरज तमतमा रहा है। बुधवार को सुबह से ही सूरज अपने तीखे स्वरूप में बना हुआ है। ऐसी स्थिति में दिन में तो गर्मी का अहसास किया जा रहा है, लेकिन सुबह और शाम के हालात बदले हुए दिखाई दे रहे हैं। सुबह पहाड़ी क्षेत्रों में हल्की धुंध छा रही है। वहीं मौसम विभाग का कहना है कि मानसून सीजन में अब भी जबलपुर सहित संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बौछारें तो कहीं छिटपुट बूंदाबांदी का दौर जारी है। विदा होने से पहले मानसून अभी और भिगोएगा। आने वाले दिनों में जबलपुर सहित आस-पास के जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने व बिजली गिरने की संभावना बनी हुई है।

एक दिन पहले मंगलवार को अधिकतम तापमान 31.1 डिग्री से करीब एक डिग्री से बढ़कर 32.1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वहीं, न्यूनतम तापमान में हल्की गिरावट के साथ 22.6 से 22.0 डिग्री पर रहा।

रात में घुल रही ठंडक

मानसून की विदाई और शरद ऋतु के आगमन का अहसास भी अब होने लगा है। मंगलवार को पहाड़ी क्षेत्रों में धुंध छाई रही। रात में वातावरण में हल्की ठंडक का अहसास घुलने लगा है। मंगलवार को तीन से चार किमी की गति से चली उत्तरी ठंडी हवाएं लोगों को शरद के आगमन का अहसास कराती रहीं।

------

पिछले मानसून सीजन में 24 जुलाई 2021 तक जबलपुर में कुल 625.8 मिलीमीटर यानी करीब 24.6 इंच वर्षा कर मानसून अघोषित रूप से विदा हो चुका था। जबकि मौजूदा मानसून सीजन में इस बार 1345.4 मिलीमीटर यानी 53 इंच वर्षा होने के बाद भी छिटपुट वर्षा का जारी है। वर्ष की तुलना में मानसून सीजन में 28 इंच ज्यादा वर्षा हुई है। विदा हो रहे मानसून को देखते हुए ये कहा जा रहा है कि वर्षा का ये आंकड़ा कुछ और बढ़ सकता है। मौसम विभाग ने जबलपुर व संभाग के जिलों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने व बिजली गिरने का येलो अलर्ट जारी किया है।

तापमान

अधिकतम 32.1

न्यूनतम 22.0

आर्द्रता - 87- 65

पूर्वानुमान

जबलपुर सहित संभाग में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने व बिजली गिरने की संभावना जताई गई है।

पूर्वानुमान - अधिकतम - न्यूनतम

जबलपुर

28 सितंबर- 33.0 - 22.0

29 सितंबर -33.0 - 22.0

कटनी

28 सितंबर- 32.5- 23.1

29 सितंबर - 32.6 - 22.6

मंडला

28 सितंबर- 34.0 - 21.0

29 सितंबर - 34.0 – 21.0

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close