पनागर। भारतीय मानवाधिकार एसोसियेशन पनागर ने पूर्व में डीआरएम कार्यालय जबलपुर, सांसद राकेश सिंह को एक ज्ञापन सौंपा गया था। जिसमें देवरी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पनागर रोड किए जाने की मांग की गई थी। साथ ही विभिन्न एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टापेज स्टेशन में किए जाने का भी ज्ञापन दिया गया था, लेकिन एक भी एक्सप्रेस ट्रेन का स्टापेज नहीं दिया गया।

विधानसभा, तहसील, जनपद, नगर पालिका, जनपद शिक्षा कार्यालय, वन विभाग कार्यालय, शासकीय कॉलेज, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित सभी शासकीय कार्यालय मुख्यालय पनागर नाम से ही जाने जाते हैं। लेकिन पनागर की लगातार उपेक्षा की जा रही है। जिसका भारतीय मानवाधिकार एसोसियेशन विरोध करता है। मांग करने वालों में शैलेंद्र ताम्रकार, स्वप्निल सराफ, राम गुप्ता, जगदीश सोनी, सुनील शर्मा, भालू सेन, बल्लू विश्वकर्मा, विनोद पटैल, अखिलेश बर्मन, आकाश सोनी, शिशिर ठाकुर, बाबू गुप्ता, सुशील कुशवाहा, एडवोकेट शांतनु तिवारी आदि शामिल हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना