जबलपुर। कार्तिक पूर्णिमा 12 नवंबर को हरेकृष्णा आश्रम भेड़ाघाट में संत-महात्माओं के नेतृत्व में नर्मदा पंचक्रोशी परिक्रमा निकाली जाएगी। किन्नर समाज व किन्नर संतों द्वारा शादी के बाद जिनको मातृत्व प्राप्त नहीं हुआ, उनकी गोद भराई का कार्यक्रम रखा जाएगा। संयोजक हीरा दीदी ने बताया कि कार्तिक पूर्णिमा को जो संयोग बन रहा है, वह अनूठा है। इसीलिए जिनको संतान-लाभ नहीं हुआ वे यह अवसर न चुकें। शीर्ष अग्रवाल ने बताया कि 1996 से अनवरत जारी नर्मदा पंचक्रोशी परिक्रमा की पहचान बन चुकी है। वह देशभर में ख्याति प्राप्त कर चुकी है। डॉ. सुधीर अग्रवाल व योगाचार्य डॉ. शिवशंकर पटेल ने आयोजन को लेकर कलेक्टर से मुलाकात की। इस दौरान व्यवस्था के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिए गए।

Posted By: Nai Dunia News Network