जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना कोरोना संक्रमण के लॉकडाउन में ग्रामीणों के लिए वरदान बनी हुई है, लेकिन जबलपुर संभाग के नरसिंहपुर-जबलपुर जिले में योजना के तहत मजदूरों की कम संख्या ने अधिकारियों को चिंता में डाल दिया है। इन दोनों जिलों में 30 हजार मजदूर योजना में कार्यरत हैं तो वहीं अन्य जिलों में 1-1 लाख से ज्यादा मजदूर मनरेगा योजना का लाभ ले रहे हैं। संभाग के सिर्फ दो जिलों में मजदूरों की संख्या क्यों कम है, इसका कारण अधिकारी पता नहीं कर पा रहे हैं।

इधर पंचायतों में यह चर्चा है कि मनरेगा के तहत गांवों में काम नहीं हो रहा है, कुछ पंचायतें ऐसी हैं जहां पर काम ही शुरू नहीं हुआ और कहीं पर मजदूर काम नहीं करना चाहते हैं। इस स्थिति के कारण दोनों जिलों में मनरेगा के तहत कार्यरत मजदूरों की संख्या कम है। हालांकि जिला पंचायत अधिकारियों ने ज्यादा से ज्यादा मजदूरों को मनरेगा से जोड़ने के लिए ग्राम पंचायत स्तर के कर्मचारियों को निर्देशित किया है।

इन जिलों में काम करने वाले मजदूरों की संख्या कम

जबलपुर, नरसिंहपुर, अलीराजपुर, हरदा, इंदौर, दतिया सहित करीब एक दर्जन जिलों में मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों की संख्या कम है। इन जिलों में कहीं 11 हजार तो कहीं 10 हजार मजदूर मनरेगा में कार्यरत है।

503 ग्राम पंचायतों में संचालित हो रही योजना

जिले में 516 ग्राम पंचायतें हैं जिसमें 503 ग्राम पंचायतों में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना गतिशील है। इन ग्राम पंचायतों में इस समय प्रधानमंत्री आवास योजना, सड़क निर्माण, तालाब गहरीकरण, जल संवर्धन से जुड़े काम मनरेगा से कराए जा रहे हैें। शेष पंचायतों में मनरेगा से काम नहीं होने का कारण पंचायतों द्वारा काम की मांग नहीं किया जाना है।

संभाग के जिलों में कार्यरत मनरेगा मजदूर

बालाघाट - 1 लाख 35 हजार 606

छिंदवाड़ा -1 लाख 11 हजार185

डिंडोरी- 1 लाख 43 हजार

जबलपुर-35 हजार 922

कटनी-60 हजार

मंडला- 1 लाख 15 हजार 787

नरसिंहपुर- 30 हजार

सिवनी- 1लाख 17 हजार 922 मजदूर कार्यरत हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना